Sahara Refund Portal : बिहार के कई जिलों में अमित शाह और भाजपा का भारी बिरोध, यह है असल मामला

Sahara Refund Portal : सहारा इंडिया की चार बड़ी सहकारी समितियों मृ अपनी जीवन भर की जमा पूंजी लगाकर बैठे सहारा इंडिया के निवेशकों को अब बेसहारा होना पड़ा है क्योकि देश की केंद्र सरकार का इस मुद्दे पर ध्यान ही नहीं है। आपको बता दे की सहकारिता मंत्री अमित शाह का दिनांक 3 नवंबर को बिहार का दौरा था जिसमे सहारा निवेशकों ने शाह का जमकर बिरोध किया वही इस बिरोध में सहारा रिफंड पोर्टल समेत शाह का पुतला दहन भी किया गया। 

आपको बता दे की माननिये सुप्रीम कोर्ट के आदेश के उपरांत सहारा इंडिया की चार बड़ी सहकारी समिति जो की सहारा इंडिया क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, सहारायण कोआपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, स्टार्स मल्टीपर्पस कोआपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड और हमारा इंडिया सोसाइटी कोआपरेटिव लिमिटेड के भुगतान के लिए सहकारीता मंत्रालय को निवेशकों की जमा पूंजी बापस करने के महत्वपुर्ण आदेश पारित किया गया था जिसके उपरांत अमित शाह के जिस सहारा रिफंड पोर्टल की घोषणा की थी उसपर निवेशकों ने बिश्वास कर अपना सफल रजिस्ट्रेशन कराया था और अपने क्लेम को उस पोर्टल पर जमा भी किया था परंतु आज दिनांक तक निवेशकों को पैसा बापस नहीं मिल सका है



Sahara Refund Portal बना झंझट

CRCS Sahara Refund Portal की जब घोषणा हुई थी तभी से लेकर करीब 1 महीने तक देश के ज्यादातर CSC सेंटरों पर काफी मात्रा में भीड़ जमा थी, हर कोई अपना सहारा इंडिया का रजिस्ट्रेशन करने पहुंच रहे थे वही उच्च रेट्स पर पोर्टल में डाटा भरा जा रहा था परंतु निवेशकों के डेटाबेस को पोर्टल से अब रिजेक्ट कर दिया गया है जिसके कारण निवेशकों में मोदी सरकार के खिलाफ एक गुस्से की लहर छा गई है वही निवेशकों ने संकल्प लिया है की सहारा इंडिया का पैसा अगर उनको सुध समेत बापस नहीं मिलता है तो मोदी सरकार को आने वाले लोकसभा चुनावो में मतदान नहीं किया जायेगा।

Read More : Sahara India Ka Latest News 2023 : सहारा मालिका सुब्रतो रॉय के खिलाफ हुई यह कार्यवाही



बिहार में अमित शाह के Sahara Refund Portal के खिलाफ भारी बिरोध

ग्रह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह आज से दो दिन पहले बिहार के मुज्जफरपुर पहुंचे थे जहा पर सहारा निवेशक ने भारी मात्रा में पहुंचकर शाह की रैली के समक्ष जमकर प्रदर्शन किया और अपना बिरोध जताया वही जयादातर निवेशकों का कहना है की अगर सहारा का पैसा मोदी सरकार को नहीं लौटाना था तो निवेशकों को क्यों पैसा मिलने के सपने दिखाए गए वही जो निवेशक परेशान था उसको सरकार ने और परेशान किया है जिसके बाद निवेशकों ने जमकर नारेबाजी की और शाह का पुतला दहन भी किया गया।

एक और पोर्टल लेकर आया सहकारिता मंत्रालय

मोदी सरकार के खिलाफ हो रही जमकर नारेबाजी और भारी बिरोध से भाजपा में हड़कंप की स्थिति बानी हुई है जहा एक तरफ कांग्रेस कोई भी मौका छोड़ना नहीं चाहती है वही भाजपा अपने कर्मो को सुधरने में लगी है जिसमे अब अमित शाह का सहकारिता बिभाग सहारा रिफंड पोर्टल पर सभी रिजेक्ट हुए फॉर्म को दोबारा एक नए पोर्टल पर री अपलोड करने की बात कर रहा है वही इस नए पोर्टल पर सरकार द्वारा काफी ज्यादा शर्ते रखी गई है जो एक आम निवेशक के लिए समझना बेहद मुश्किल दिखाई दे रही है।

Sahara Refund Portal, Virendra Singh Solanki Jaora, Sahara India Latest News 2023 Today



सहारा इंडिया के पीड़ितों की कांग्रेस ने सुनी पुकार

सहारा इंडिया में फसे निवेशकों की रिफंड हेतु सहारा समूह से प्रताड़ित निवेशकों की बात उठाने वाले सयुक्त आल इंडिया संघर्ष न्याय मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष श्री वीरेंद्र सिंह सोलंकी को जावरा रतलाम से कांग्रेस ने टिकट दिया है जिसमे सोलंकी ने दो प्रमुख कसम खाई है जिसमे सहारा इंडिया से सभी निवेशकों का सुध समेत भुगतान और जावरा को जिला बनाना शामिल है वही आपको बता दे की शिवराज के कार्यकाल में सहारा इंडिया के खिलाफ करीब 200 से ज्यादा एफआईआर मध्यप्रदेश में दर्ज की गई है परंतू आज रतक इस मामले में सहारा इंडिया के एक भी अधिकारी पर कार्यबाही नहीं हो पाई है वही कांग्रेस ने निवेशकों को भरोसा दिलाया है की अगर सरकार बनती है तो सहारा इंडिया का मामला सबसे पहले बिधानसभा में गूंजेगा।




2 thoughts on “Sahara Refund Portal : बिहार के कई जिलों में अमित शाह और भाजपा का भारी बिरोध, यह है असल मामला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *