Sahara Hospital Sold : 940 करोड़ में EMBARGO के बाद भी मैक्स हेल्थ केयर को कैसे बीचा, सरकार बनी मुर्ख दर्शक

1

डेस्क रिपोर्ट, बिजनिस रिपोर्ट : सहारा इंडिया परिवार ने जिस स्तर के कारण अपनी कंपनी की शुरुवात की थी लगता है अब वो भी सहारा प्रमुख के निधन के बाद ख़त्म हो चली है, आपको बता दे की एक – एक कर सहारा ग्रुप की कंपनी बंद होती जा रही है वही कंपनी की ज़मीने भी लगातार बिचती जा रही है आपको बता दे की सहारा इंडिया परिवार की क्यू शॉप स्कीम के ऊपर भी बंद होने का खतरा मंडरा रहा है वही अगर बात सहारा के अस्पताल की करें तो वह भी 940 करोड़ में बीच चूका है.

यह अस्पताल अब बिचने जा रहा
आपको बता दे की सहारा इंडिया जो एक समय अपने कार्यों के कारण पुरे देश में तिरंगा लहरा रहा था वह अब थम सा गया है वही सहारा का यह अस्पताल लखनऊ के कपूरथाला काम्प्लेक्स सहित स्थित था जिसको अब मैक्स हेल्थकेयर ने 940 करोड़ में ख़रीदा है वही यह रिपोर्ट स्टॉक मार्किट को दिए गए रिकॉर्ड से हासिल हुई है.

Read More : Sahara Refund Portal को लेकर स्टेटस रिपोर्ट 2023, अब कैसे मिलेगा भुगतान

सहारा की एक कॉर्पोरेट कंपनी थी मालिक

आपको बता दे की की सहारा इंडिया के एजेंट रह चुके न्यूज़ दुनिया नीरज शर्मा चैनल के संस्थापक नीरज कुमार शर्मा जी ने हमको बताया की सहारा अपनी हर मीटिंग में अपनी इन ईमारतो का जिक्र करके निवेशकों से पैसा उगाया करता था अब निवेशक को ना तो उसका जमा पैसा मिल रहा है उधर उस निवेशक की आँखों के सामने सहारा लगातार अपनी ज़मीनो को बेचता चल रहा है, वही इस हॉस्पिटल की मालिकाना कंपनी स्टॉर्लिंइट मेडिकल सर्विस प्राइवेट लिमिटेड थी.

नीरज ने बताया की सहारा अपनी कॉर्पोरेट डायरी में भी अपनी एयरलाइन्स और सहारा हॉस्पिटल और सहारा स्टार होटल का जिक्र करता था, यह ही वह बजह थी की निवेशक ने सहारा पर बिश्वास किया था परन्तु सहारा ने उस निवेशक की उम्मीद पूरी तरह से ख़त्म कर दी है और मोदी सरकार लगतार नजर बंद करके देख रही है, यह हमारे देश के सिस्टम, मोदी सरकार और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की एक बहुत बड़ी खामी है.

सहारा सेबी एम्बार्गो पर भी उठा मुद्दा

आपको बता दे की जब भी सहारा इंडिया परिवार से भुगतान करने की बात की जाती थी तो वह लगतार अपने बयानों और पत्रों के माध्यम से बताता था की सहारा सेबी केस के एक आर्डर के अनुसार कंपनी की बागडोर और उसकी प्रॉपर्टी पर Embargo लगा है यानी कंपनी कोई भी प्रॉपर्टी बेचकर निवेशकों का भुगतान नहीं कर सकती है, अगर ऐसा था तो अब कैसे सहारा अपनी ज़मीने बेचकर निवेशकों को इस तरह ठेंगा दिखा रहा है.

सुप्रीम कोर्ट भी कुछ काम का नहीं

सयुंक्त आल इंडिया संघर्ष न्याय मोर्चा ने अपने बयान में बताया की अब जल्द सहारा इंडिया के खिलाफ सभी निवेशक एक बड़ा आंदोलन करने जा रहे है वही यह आंदोलन दिल्ली में किया जाना है जिसमे निवेशकों ने अब मोदी जी की सरकार और सहारा के खिलाफ सडक पर उतारकर आंदोलन करने की ठानी है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here