Harshad Mehta Scam Versus The Sahara Scam, Checkout Latest Scam Deatils

3

Harshad Mehta Scam In Hindi : भारत के कुछ Most Popular Financial Scandals अब पुरे बिश्ब में काफी चर्चित है जिनमे से मुख्य रूप से जब भी इन फाइनेंसियल फ्रॉड या कहे घोटालो की बात आती है तो जुबान पर सबसे पहले यह दो फाइनेंसियल फ्रॉड पर नजर जाती है जो आपस में अंदरूनी रूप से मेल भी खाते है जिनका नाम है The Harshad Mehta Scam और The Sahara India Pariwar Scam, तो चालिये आपको बताते है की दोनों स्कैम आखिर कैसे हुए थे।

एक पुराना तो एक नया घोटाला

हर्षद मेहता का यह घोटाला 19 बी सदी का सबसे बड़ा घोटाला था जबकि सहारा इंडिया परिवार का घोटाला 20 बी सदी का सबसे बड़ा घोटाला है हालांकि दोनों में बात एक ही है की सरकार को अँधेरे में रखकर दोनों घोटालो को अंजाम दिया गया था जिसमे मुख रूप से इसका खामयाजा केवल भारत की आम जनता को भुगतना पड़ा था क्योकि जनता का ही पैसा डूबता हुए दिख रहा था और अब सहारा के घोटाले के आज भी डूब रहा है।

जब 1992 में भारत की अनेको अखबारों में हर्षद मेहता के इस काले कारनामे का सच सामने आया था तभी से भारत में काफी अफरा तफरी मच गई थी जो शेयर कभी Rs250 पर रहा करता था उसको हर्षद के काले कारनामे Rs4000 तक लेकर चले गए थे और जब भोली भाली जनता को इस घोटाले का पता चला तो मार्किट ने ऐसी फेर बदल की आधी से ज्यादा शेयर मार्किट में पैसा निवेश करने वालो की हालत काफी खस्ता हो गई।

इस ब्लॉग पोस्ट को केवल जनता के लिए बनाया गया है वही यह मामले देश के अनेको कोर्ट में अब फाइनली Prove भी हो चुके है वही इस खबर में जो भी डाटा का इस्तेमाल किया गया है वह इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, प्रेस रिलीज के माध्यम से पहले जुटाया गया है इसके बाद ही उसको आधार बनाकर इस खबर को The Business Life की मीडिया टीम ने पब्लिश किया है।

The Harshad Mehta Case की कहानी

हर्षद मेहता का जन्म 29 जुलाई 1954 को गुजरात में हुआ था वही हर्षद Share Market की जानी मानी हस्तियों में से एक Businessmen रहा करते थे जिनको The Big Bull और 1990 के Amitabh Bacchan भी कहा जाता था सोशल मीडिया पर पोस्ट अनेको पोस्ट में बताया गया है की मेहता बिग बी बच्चन साहब के बहुत बड़े फैन थे।

हर्षद पेशे से एक stock trader थे जो स्टॉक मार्किट को Manipulate (स्टॉक मार्किट में काले कारनामे) करने में बड़े ही मशहूर थे इसी के साथ मेहता स्टॉक में Insider Trading भी किया करते थे जो की भारत में क़ानूनी रूप से गैर क़ानूनी है वही शेयर मार्किट को कब उछालना है और कब गिराना है यह हर्षद को काफी अच्छे से आता था वही इस ब्यबसाय में उनका साथ उनके भाई अश्वनी मेहता भी दिया करते थे और दोनों भाई मिलकर भारत में जोरो शोरो से धंदा (trading) कर रहे थे।

मेहता ने अपने सबसे पहले काम की शुरुवात एक sales officer के रूप में शुरू की थी वही यह जॉब उनको बिलकुल रास नहीं आया करती थी और वह जल्द अमीर होने के सपने देखा करते थे वही मेहता का यह घोटाला 1992 में सबके सामने आया, रोजाना प्रेस मीडिया में मेहता ब्रदर्स के काले कारनामो पर सुचेता दलाल के कई सारे आर्टिकल आने लगे और जब यह मामला देश की न्यायपालिका में पंहुचा तो देश में हड़कंप मच गया।

Wikepedia पर मौजूद जानकारी के अनुसार Bombay Highcourt और Supreme Court of India में यह साबित हो गया की शरमार्केट का बादशाह Share Market में क्या काले करनामो को अंजाम दे रहे थे वही मेहता ब्रदर्स ने जिन स्टॉक्स को उठा रखा था वह गिरना शुरू हो गए थे तभी एक और पीक मोमेंट आया जिसमे हर्षद पर SBI BANK को फर्जी BR (bills receivable) देने का आरोप मेहता पर सिद्ध हुआ तो मेहता को जेल की सलाखों के पीछे पंहुचा दिया गया। 

हर्षद मेहता पर कितने केस दर्ज हुए थे ?

जब इस Harshad Mehta Scam Net Value निकली गई तो उसको देखकर मानो सबके पेरो टेल जमीन खिसक गई हो क्योकि वैल्यू काफी ज्यादा बड़ी थी जो की Rs5,000 Crore थी जो की उस समय के काफी बड़े स्टॉक मार्किट स्कैंडल में से एक बानी हालांकि इसके बाद हार्ट अटैक के कारण जब हर्षद का निधन हुआ तब उनके ऊपर करीब 27 Criminal Cases दर्ज हो चुके थे।

नोट : यह तस्बीर हर्षद मेहता और उनके भाई अश्विनी मेहता की है

The Sahara Scam Kya Hai

सहारा इंडिया परिवार भारत की कुछ नामचीन कंपनियों में एक कंपनी है जो भारत सहित अलग – अलग देशो में अपना ब्यबसाय किया करती थी वही कंपनी इतनी ज्यादा मशहूर थी की बॉलीवुड की बड़ी बड़ी हस्तिया सहारा के हर कार्यकर्म में मौजूद रहा करती थी वही कंपनी के प्रमुख का नाम है Subrata Roy Sahara वही कंपनी का मुख हेडक्वार्टर उत्तरप्रदेश के Lucknow में स्थित है।

Name of Company Sahara India Pariwar
Company headquarter Lucknow, Uttar Pradesh
Company Total Employee Around 12 Lakhs (according to 2016 data as new data is unavailable) 
Company Total Worth Rs 2,000 Crore (Data By : Mint)
Company Working Sectors real estate, hosuing. finance, media, electric vehicles, sports, media, entertainment and many other.
Company Founder Mr. Subrata Roy Sahara
Most Famous Company Scheme Sahara India Q – Shop
Company Owner Age Currently 75 Years (as per 2023)

 

 

सहारा इंडिया ने क्या फ्रॉड किया है?

सहारा इंडिया अलग अलग स्कीमो के माध्यम से काम किया करती थी वही कंपनी के पास Reserve Bank of India द्वारा लाइसेंस भी मौजूद था जिसको RBI ने सहारा की बिगड़ती परिस्थिति को देखकर September 2015 में बापस ले लिया था क्योकि कंपनी काफी खस्ता हालातो में कार्य कर रही थी, तो चलए जानते है सहारा के कुछ मोस्ट पॉपुलर फ्रॉड्स के बारे में।

समय 2009 का था सहारा कमाल – धमाल बिजनिस एक्सपोज़र दे रही थी कंपनी से जुड़े फील्ड वर्कर भी काफी शानदार काम कर रहे थे वही उस समय सहारा की दो स्कीम सबसे ज्यादा मशहूर चल रही थी जिनका नाम था Sahara India Real Estate Corporation Limited (SIRECL) और Sahara India Housing Corporation Limited (SHICL) वही सहारा ने उस समय IPO (Initial public offering) लाने का दावा किया था जिसके तहत कंपनी ने ऑप्शनली फुल्ली कनवर्टिबल डिबेंचर्स को निवेशकों और SEBI (securities and exchange board of india) के बिना इजाजत लिए जारी कर दिया था जिसपर सेबी ने इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

उस समय सहारा सही जबाब देने में नाकाम रहा था जिसके बाद कंपनी प्रमुख सुब्रत रॉय सहारा के खिलाफ अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया था कंपनी प्रमुख के घर पर भारी भीड़ जमा हो गई थी जिसके बीच से पुलिस ने सुब्रत रॉय की कस्टडी ली थी हालांकि हमेशा से ही सुब्रत रॉय अपने आप को देशभक्त जरूर बताते आये है परंतु यह स्कैंडल से कंपनी के एजेंटो को बहुत बड़ी ठेस पहुंची थी परंतु उस समय सहारा की अंधभक्ति इतनी थी की एजेंटो ने सुब्रत रॉय को जेल से बहार निकलने के लिए कड़ी मेहनत एवं परिश्रम किया परंतु उस समय बेचारो को पता नहीं था की वह क्या कर रहे है जो अब 2023 में एक सबक बन कर उभरा है।

एक चोरी को छुपाना यहाँ से शुरू हो गई दूसरी चोरी

सुब्रत रॉय सहारा जैसे ही सलाखों के पीछे पहुंचे कंपनी के बरिष्ट अधकिकारियो को कंपनी के हेडक्वार्टर से फ़ोन पहुँचा जिसके बाद आनन् फानन में सहारा के कार्यालय पर बैठक होती है सहारा को बचाने के लिए सुब्रत रॉय के बेटे प्रेस बुलाकर मीटिंग करते नजर आये परंतु सुब्रत रॉय को डिफेंड करने में सहारा ने कोई कसार नहीं छोड़ी वही सुप्रीम कोर्ट के सबसे बरिष्ट बकीलो की टीम हायर की गई परंतु सहारा कोर्ट में सही जबाब पेश न कर सकी।

SEBI का कहना था की सहारा ने डिबेंचर की अल्टा पलटी के लिए SEBI से कोई इजाजत नहीं ली थी जबकि सहारा का कहना था की कंपनी MINISTRY OF COOPERATE AFFAIR से रजिस्टर थी एवं वही से कंपनी ने लीगल इजाजत ली थी वही इस मुद्दे पर दोनों के बीच काफी ज्यादा बाद – बिबाद देखने के लिए मिला था वही यह ही समय था जब सहारा के फील्ड वर्कर्स और जमाकर्ताओं को उनके निवेश पैसे को लेकर डर सताना शुरू हो चूका था।

इसके बाद सहारा को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए SAHARA SEBI खाते में करीब RS 24,000 करोड़ जमा करने का आदेश सुना दिया जिसके बाद कंपनी ने एक नई चाल बुनना शुरू कर दी और सभी फील्ड वर्कर्स को कंपनी ने कुछ झूठी बिजनिस की बात बताकर निवेशकों के फिर पैसा REINVESTMENT कराने के लिए बोल दिया जिसके बाद भारी ब्याज और कमिशन के लालच में निवेशकों के पैसे की हेर फेर करके सहारा ने पूरा निवेशकों का पैसा अपनी क्रेडिट सोसाइटी में निवेश करा दिया जो आज तक निवेशकों को नहीं मिल सका है जिसके लिए सहारा का ग्राहक एक सरकारी दफ्तर से दूसरे सरकारी दफ्तर के चक्कर काट रहा है परंतु उसका पैसा आज तक उसको नहीं मिल सका है।

Sahara India Credit Society Scam Worth

सहारा के कंपनी फील्ड वर्कर और हमारे सूत्रों के हवाले के आधार पर यह नापा जा रहा है की सहारा इंडिया का यह अल्टा पलटि वाला स्कैम करीब Rs 86,000 करोड़ का है जिसमे भारत के गरीब मजदुर, हाथ ठेला वाले और देश की मध्यम बर्गिये परिवारों का सबसे ज्यादा पैसा इन फर्जी स्कीम में निवेश कराया गया था।

सहारा समूह के करीब 9 लाख से अधिक निवेशकों का पैसा सहारा इंडिया की क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी में जमा है वही सेबी और मिनिस्ट्री ऑफ़ कोऑपरेशन द्वारा जारी एक स्टेटमेंट के आधार पर सहारा की इन स्कीमो में इतने लाख निवेशकों ने इतना करोड़ पैसा जमा किया था जो की कुछ इस प्रकार है।

Company or Society Name Total Investors (in.crore) Total Investments
1. Sahara India Credit Cooperative Society Ltd 4.00 Crore Investors 47245 Crores
2. Humara India Credit Cooperative Society Ltd 1.8 Crore Investors 12958 Crores
3. Saharayan Multipurpose  Cooperative Society Ltd 3.71 Crore Investors 18000 Crores
4. Star Multipurpose Credit Cooperative Society Ltd 0.37 Crore Investors 8470 Crores

Data Is According To SEBI & Ministry of Cooperation

sahara india credit cooperative society ltd Refund

सहारा समूह के निवेशकों के लिए मोदी सरकार ने सहारा सेबी केस में पड़े Rs 24000 करोड़ रूपये में से करीब Rs 5000 करोड़ का फण्ड माननिये सुप्रीम कोर्ट से मंजूर करा लिया है जिसको लेकर अब जल्द एक पोर्टल जारी कर निवेशकों को चुनाबों के पहले मोदी सरकार उनका पैसा लौटा कर बड़ी खुसी देने वाली है जिसकी सभी प्रक्रिया अब लगभग पूरी हो चुकी है।

सहारा इंडिया सहित भारत के बिजनिस वर्ल्ड के खुलासो से जुडी ज्यादा जानकारी के पढ़ते रहे The Business Life In.