HomeBig BreakingCovidShield Vaccine Fails : क्या सरकार द्वारा लगाईं गई वैक्सीन निकली खतरनाक...

CovidShield Vaccine Fails : क्या सरकार द्वारा लगाईं गई वैक्सीन निकली खतरनाक यहाँ देखे पूरी रिपोर्ट

CovidShield Vaccine Fails : आप सभी को कोरोना वायरस का वह भनायक रूप तो याद ही होगा जब देश के प्रमुख शमशान पर जगह तक खाली नहीं बची थी ऐसे में लगातार देश अपने नागरिको को खोता जा रहा था वही उस समय एक रामवाण के रूप में आई कोविड के लिए वैक्सीन ही एक मात्र जिंदगी बापस पाने का एक बिकल्प था जिसमे दो वैक्सीन को सबसे पहले सरकार द्वारा मंजूरी मिली थी जिसमे पहेली भारत की Covaxin और दूसरी Astrazeneca की CovidShield थी जिसको ऑक्सफ़ोर्ड के साथ मिलकर बनाया गया था।

अब सोशल मीडिया पर पिछले कई दिनों से यह वैक्सीन का मामला छाया हुआ है क्योकि Astrazeneca ने कोर्ट में चल रहे मामले में इस बात को स्वीकार किया है की उनकी बनाई हुई Covid 19 Vaccine CovidShield कई गंभीर बिमारी पैदा कर सकती है जिनमे प्रमुख हार्ट की बीमारी भी शामिल है जिसके बाद से ही भारत में भी मामले को लेकर अफरा – तफरी मच गई है।  

आपको बता दे की यह CovidShield वैक्सीन भारत में कई लोगो को दी गई है वही अब वैक्सीन के लगातार साइड इफ़ेक्ट सामने आ रहे है, टाइम्स नाउ की एक रिपोर्ट में यह पता चला है की वैक्सीन से ब्लड क्लॉट समेत हार्ट अटैक जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है वही इस वैक्सीन को लेकर दावे है की बिदेश में इस वैक्सीन को लेकर पता चला है की इस वैक्सीन के गंभीर परिणाम एक मृत्यु के बराबर भी हो सकते है।

Read More : ICSE Results 2024 : आखिर कब आएगा रिजल्ट यहाँ देखे रिजल्ट डाउनलोड की ऑफिसियल लिंक

केंद्र सरकार की चुप्पी से देश में हाहाकार

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर लगातार इस बात का दावा किया जा रहा है कि जब वैक्सीन भारत में लॉन्च की गई थी तब प्रधानमंत्री “श्री नरेंद्र मोदी के धन्यवाद मोदी जी वाले” पोस्टर जारी कर देश के अलग-अलग कोने में लगाए थे जिसमें धन्यवाद मोदी जी जैसे नारे भी इस्तेमाल किए गए थे वहीं जब इन कॉविड-19 के वैक्सीन की सही रिपोर्ट सामने आई है तो केंद्र सरकार इस मामले पर आखिर क्यों चुप है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस वैक्सीन मामले में घेरा जरूर है परंतु लगातार उनकी चुप्पी उन्ही पर हावी होती जा रही है।

कैसे पता चलेगा की आपको कौनसी वैक्सीन लगी है

अगर आप भी यह पता करना चाहते हैं कि कोविड-19 के दौर मैं अपने कौन सी वैक्सीन लगवाई है तो आप उसके लिए सरकार द्वारा जारी COWIN ऐप पर जाकर Login कर सकते हैं जिसमें आपको आपका मोबाइल नंबर डालना होगा जिसके जरिए अपने अपना अपॉइंटमेंट वैक्सीन के लिए बुक किया था जिसके बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगी वही उस ओटीपी को डालते ही आप सर्टिफिकेट डाउनलोड कर पाएंगे। इसके बाद आप यह पता कर सकते हैं कि आखिर आपको कौन सी वैक्सीन लगी थी।

Read More : jiwaji university BA Bcom Bsc 3rd Year की परीक्षा आखिर क्यों हुई रद्द, यह है मुख्य वजह

 

क्या है एक्सपर्ट्स की राय

टाइम नाउ की एक विश्लेषण में या पता चला है कि कोविड 19 की वैक्सीन भले ही हानिकारक हो परंतु इससे होने वाले साइड इफेक्ट बड़े ही रेयर चांसेस में होते हैं। इसी के साथ लोगों को इस बात से घबराने की जरूरत नहीं है कि उनको कोवैक्सीन लगी थी या कोविशील्ड लगी थी। इसी के साथ अगर कोई गंभीर समस्या आपको आ रही है तो वह जरूरी नहीं है की वह वैक्सीन के कारण ही हो वही ऐसे मामले में आप अपने नजदीकी डॉक्टर को जल्द मामले को लेकर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

क्या हैं कोविड वैक्सीन के साइड इफेक्ट?

अब वैक्सीन के लगातार साइड इफ़ेक्ट सामने आ रहे है, टाइम्स नाउ की एक रिपोर्ट में यह पता चला है की वैक्सीन से ब्लड क्लॉट समेत हार्ट अटैक जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है.

क्या कोविशील्ड वैक्सीन सुरक्षित है?

अब सोशल मीडिया पर पिछले कई दिनों से यह वैक्सीन का मामला छाया हुआ है क्योकि Astrazeneca ने कोर्ट में चल रहे मामले में इस बात को स्वीकार किया है की उनकी बनाई हुई Covid 19 Vaccine CovidShield कई गंभीर बिमारी पैदा कर सकती है जिनमे प्रमुख हार्ट की बीमारी भी शामिल है जिसके बाद से ही भारत में भी मामले को लेकर अफरा – तफरी मच गई है।  

क्या अस्त्रज़ेनिका की कोविशील्ड से मृत्यु हो सकती है?

आपको बता दे की यह CovidShield वैक्सीन भारत में कई लोगो को दी गई है वही अब वैक्सीन के लगातार साइड इफ़ेक्ट सामने आ रहे है, टाइम्स नाउ की एक रिपोर्ट में यह पता चला है की वैक्सीन से ब्लड क्लॉट समेत हार्ट अटैक जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है वही इस वैक्सीन को लेकर दावे है की बिदेश में इस वैक्सीन को लेकर पता चला है की इस वैक्सीन के गंभीर परिणाम एक मृत्यु के बराबर भी हो सकते है।

टीटीएस साइड इफेक्ट क्या है?

थ्रोम्बोसाइटोपेनिया सिंड्रोम (टीटीएस) के साथ थ्रोम्बोसिस एक दुर्लभ लेकिन गंभीर स्थिति है जो कम प्लेटलेट काउंट (थ्रोम्बोसाइटोपेनिया) के साथ रक्त के थक्के बनने (थ्रोम्बोसिस) की विशेषता है।

thebusinesslife.in
thebusinesslife.inhttps://www.thebusinesslife.in
The Business Life Author's Report is Being Prepared with Full Knowlege and Research Basis If you have any query related to any post you can dm us at newsduniyaentertainment@gmail.com
Must Read
Related News

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here