Home Blog

Best College For Mba In India : कम परसेंटाइल में यह है सर्वाधिक एमबीए कॉलेज

Top 5 MBA College In India : आज कल के जीवन में बढ़ती जनसंख्या के साथ एक अच्छी जॉब मिल पाना काफी ज्यादा मुश्किल हो रहा है वही आज के जीवनकाल में एक अच्छी डिग्री ही एक अच्छी नौकरी लेकर आती है, वही अगर आप भी अपने जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग यानी “पढ़ाई” एक MBA की Best College For Mba In India से डिग्री के साथ ख़त्म कर अच्छी नौकरी करना चाहते है तो चलिए आज की पोस्ट में हम आपको भारत के कुछ सर्वाधिक एमबीए कॉलेज बताते है जिसके जरिये आप अपनी जिंदगी सवार सकते है वही यह कॉलेज हम आपको अपने पुराने एम्प्लाइज और कालिक्स के पर्सनल बयान पर शेयर करेंगे।

NOTE : जो भी कॉलेज के बारे में हम आपको बताएँगे उनमे से कोई भी कॉलेज ने हमको एक सिंगल रुपया भी नहीं दिया है वही यह लिस्ट हमारी मीडिया टीम ने देश के बच्चो के लिए प्रसारित की है जिससे उनको उनके लिए एक अच्छा कॉलेज चुनने में मदद कर सके। 

1. IIM AHMEDABAD

आईआईएम अहमदाबाद भारत के प्रतिष्ठित एमबीए कॉलेजों में से एक है जो कॉलेज से अन्य डिग्री के साथ एमबीए भी प्रदान करता है। कॉलेज की स्थापना 11 दिसंबर 1961 में की गई थी और कॉलेज का समग्र पाठ्यक्रम इस कॉलेज की प्रवेश परीक्षा में बैठने वाले छात्रों के बीच बहुत प्रसिद्ध है। कॉलेज अपने अच्छे प्लेसमेंट अवसरों के लिए भी प्रसिद्ध हो रहा है क्योंकि कॉलेज छात्रों को अच्छी इंटर्नशिप और प्लेसमेंट अवसर प्रदान करता है.

अगर आप भी आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए करना चाहते हैं, तो आपको कैट परीक्षा फॉर्म भरना होगा, जिसके माध्यम से कॉलेज यह तय करेगा कि वे आपको प्रवेश देना चाहते हैं या नहीं, क्योंकि समग्र शिक्षाविदों को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया जाता है जिसमे कैट परसेंटाइल, जीडीपीआई और वाट के साथ अलग – अलग शैक्षणिक विविधता मौजूद रहती है।

IIM AHMEDABAD OVERVIEW

Founded In 
11 December 1961
Entrance Required (with percentile) CAT EXAM With 80 for General, 75 for NC-OBC/EWS, 70 for SC/PwD and 60 for ST candidates
Average Fees For Two Years 15,80,000 For Two Years
Average Placements INR 34 LAKH LPA
Top Recruiters McKinsey & Company, Tcs, Mastercard, Oracle, Hyundai and More.

2. IIM BANGALORE

एमबीए करने के लिए हमारी सूची में दूसरा सबसे अच्छा कॉलेज आईआईएम बैंगलोर है क्योंकि इसकी प्लेसमेंट रिपोर्ट के साथ समग्र पाठ्यक्रम छात्रों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए सबसे अच्छा है क्योंकि आज हमारे कई दोस्त आईआईएम बैंगलोर से स्नातक हुए हैं और एक शानदार पैकेज पर हैं। क्योंकि यह कॉलेज वैल्यू फॉर मनी है।

आईआईएम बैंगलोर में प्रवेश पाने के लिए सभी आवश्यक कदम आईआईएम अहमदाबाद के समान हैं क्योंकि आपको अच्छे प्रतिशत के साथ कैट की प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी और उसके बाद आप समूह चर्चा और अन्य कारकों पर एक छात्र को एडमिशन लेने के आगे के कदम तय करते हैं।

Founded In 
1973
Entrance Required (with percentile) CAT EXAM With 99 for General, 90 for NC-OBC/EWS, 85 for SC/PwD and 83 for ST candidates
Average Fees For Two Years Rs 24 Lakhs For Two Years
Average Placements INR 36 LAKH LPA
Top Recruiters The Boston Consulting Group, Tcs, Mastercard, Bain and Company, and More.

3. IIM CALCUTTA

पिछले कुछ सालो में आईआईएम कलकत्ता ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है वही इस कॉलेज की ओवरआल रैंकिंग में भी एक अच्छा बूस्ट देखने के लिए मिला है वही आखिरी प्लेसमेंट यानी की 2021 – 2023 बैच की प्लेसमेंट रिपोर्ट उठाकर देखि जाए तो वह पिछले कुछ सालो की तुलना में काफी हद तक सुधरी है वही आपके लिए आईआईएम कलकत्ता तीसरे बिकल्प के तौर पर सबसे अच्छा कॉलेज हो सकता है। 

Founded In 
1961
Entrance Required (with percentile) CAT EXAM, With an agregate of 85 percentile.
Average Fees For Two Years Rs 32 Lakhs For Two Years
Average Placements INR 1.15 CRORES
Top Recruiters Accenture, Amazon, BCG, McKinsey, EY, Bain & Co, Aditya Birla Group
Read More : yo yo honey singh comeback : बादशाह और हनी फेंस में फिर देखने मिली तकरार
4. SIBM PUNE

यदि आप पुणे से एमबीए की डिग्री लेकर खुद को अपग्रेड करना चाहते हैं तो आप SIBM PUNE का रुख कर सकते हैं क्योंकि कॉलेज हाल के दिनों में अच्छा प्रदर्शन कर रहा है क्योंकि वेब पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार पुणे के SIBM पुणे ने हाल के दिनों में अच्छा प्रदर्शन किया है। कॉलेज छात्रों को सर्वोत्तम प्लेसमेंट अवसरों के साथ अच्छी पढाई से सम्बंधित गतिविधियों की पेशकश करता है, साथ ही कॉलेज के बारे में अधिक जानकारी इस प्रकार है:-

Founded In 
1978
Entrance Required (with percentile) SNAP EXAM WITH A PERCENTILE OF 95.
Average Fees For Two Years Rs 10 Lakhs For Two Years
Average Placements INR 36 LPA
Top Recruiters Accenture, Amazon, BCG, McKinsey, EY, Bain & Co, Aditya Birla Group
5. SPJIMR MUMBAI

एसपी जैन मुंबई एमबीए के लिए मुंबई में सबसे अच्छा कॉलेज है क्योंकि कॉलेज जीडीपीआई के साथ अंतिम प्रवेश दौर के लिए कैट स्कोर स्वीकार करता है, इसलिए यह कॉलेज मार्केटिंग और वित्त क्षेत्रों में प्लेसमेंट के अवसरों के लिए भी सबसे अच्छा है, अगर आप मुंबई से एमबीए करना चाहते हैं इसलिए यह मुंबई में उपलब्ध सर्वोत्तम विकल्प हो सकता है।

Founded In 
1981
Entrance Required (with percentile) cat EXAM WITH A PERCENTILE OF 85.
Average Fees For Two Years Rs 23 Lakhs For Two Years
Average Placements INR 78 LPA
Top Recruiters Accenture, Amazon, American Expess, McKinsey, KPMG, ITC, HCL, TCS And More.

 

तो यह थे भारत के शीर्ष 5 टॉप एमबीए कॉलेज जिनके जरिये आप एमबीए कर सकते है वही अगर आपको कॉलेज चुनने में कोई बड़ी समस्या हो रही है और आप हमारी मीडिया टीम से कोई सुझाव लेना चाहते है तो आप निचे दिए गए कांटेक्ट फॉर्म को भर सकते है वही आप अपनी डिटेल पूरी दीजियेगा, वही कांटेक्ट फॉर्म जमा करने के 24 घंटे के भीतर हमारी टीम आपसे जरूर संपर्क करेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Harshad Mehta Scam Versus The Sahara Scam, Checkout Latest Scam Deatils

Harshad Mehta Scam In Hindi : भारत के कुछ Most Popular Financial Scandals अब पुरे बिश्ब में काफी चर्चित है जिनमे से मुख्य रूप से जब भी इन फाइनेंसियल फ्रॉड या कहे घोटालो की बात आती है तो जुबान पर सबसे पहले यह दो फाइनेंसियल फ्रॉड पर नजर जाती है जो आपस में अंदरूनी रूप से मेल भी खाते है जिनका नाम है The Harshad Mehta Scam और The Sahara India Pariwar Scam, तो चालिये आपको बताते है की दोनों स्कैम आखिर कैसे हुए थे।

TCS JOB SCANDAL : नौकरी देने के नाम पर कर्मचारियों ने किया 100 करोड़ रूपये का घपला

tcs job scandal : भारत की सर्वाधिक मशहूर Consultancy Firm टीसीएस यानी की Tata Consultancy Services में एक बड़ा जॉब स्कैंडल पकड़ा गया है खबर है की कंपनी के कुछ प्रमुख एम्प्लाइज कंपनी में Staffing के दौरान पैसे लेकर नौकरी प्रदान करने का काम कर रहे है वही ताजा आंकड़ों से यह नापा जा रहा है की कंपनी में स्कैंडल काफी सालो से चल रहा था जिसका अब पर्दाफास हो चूका है।

Mint द्वारा पब्लिश की गई रिपोर्ट के अनुसार सबसे पहले मिंट को ही इस स्कैंडल के बारे में पता चला था जिसके बाद एक इंटरनल कमिटी बनाकर जब इस मामले की प्रमुख तरीके से जांच की गई तभी यह खुलासा हुआ की फर्म की Resource Management Group स्टाफिंग के दौरान रिश्वत (bribe) लेने का काम किया करते थे।

आपको बता दे की इस सीरियस रिपोर्ट के बाद इस प्रमुख इंटरनल ऑडिट टीम में तीन लोग शामिल थे जिनमे से सूचना सुरक्षा अधिकारी अजीत मेनन सहित अन्य लोग इस प्रमुख दल में शामिल थे वही उनकी इस जांच के बाद ही कई सालो से चल रहा है Scandal आज जनता के सामने आ सका है।

रिश्वत लेकर 3 साल में कमाए 100 करोड़ रूपये

ताजा खबरो के हिसाब से यह मालूम चला है की कंपनी में कार्यरत RMG GROUP (Resource Management Group) के प्रमुख को कंपनी में न घुसने की हिदायत दी गई है वही जब यह खबर कंपनी प्रमुखों के पास पहुंची तो उन्होंने तुरंत एक्शन लेने की कार्यबाही शुरू करदी जिसमे मुख्य रूप से कंपनी के RMG ग्रुप डिवीज़न में काम करने वाले कई कर्मचारियों को अब कंपनी ने बर्खास्त भी किया है।

Read More : How To Earn Money From Sharemarket (in 2023) Hindi

Sahara India Life : घोटाले मामले में Supreme Court पंहुची IRDAI की लीगल टीम

Sahara India Life Insurance Company : एक समय अपने नाम से Share Market को हिलाने वाला Sahara Group आज खुद हिला हुआ है जानकरी के मुताबिक ग्रुप की संचालित होने वाली कई कंपनियों लगातार ठप होती नजर आ रही है वही कंपनी की NI यानी की New Investment लेने पर भी रोक कायम है जिसके कारण कंपनी Profit क्या कई गुना Loss का सामना कर रही है।

अब खबर Sahara Group की Life Insurance को लेकर आ रही है खबर है की Insurance Regulatory and Development Authority of India (IRDAI) ने पिछले हफ्ते सहारा की इस कंपनी से जुड़े निवेशकों (Investors) को एक अच्छी खबर दी थी जिसमे कंपनी से जुड़े पुरे Business को SBI Life में ट्रांसफर करने के निर्देश जारी हुए थे वही निवेशकों को सुरक्षित रखने के नजरिये से यह कदम उठाना जरुरी था।

सहारा इंडिया की लेटेस्ट न्यूज़ क्या है

पिछले हफ्ते जारी हुए IRDAI से 2 June के एक प्रेस नोट में यह साफ़ तरीके से उल्लेख किया गया था की Sahara India Life Insurance Company Ltd (SILIC) पिछले कई सालो से पेंडिंग पड़ी निवेशकों की शिकायतो पर ध्यान नहीं दे रहा था इसी के साथ कंपनी की मैनेजरियल बॉडी भी अपना काम सही से नहीं कर रही थी जिसके बाद IRDAI ने इस फैसले को उठाना उचित समझा।

Read More :

सहारा इंडिया की न्यूज़

हालांकि IRDAI से आर्डर रिलीज होने के तुरंत बाद Sahara Group ने इस मामले पर Securities Appellate Tribunal (SAT) से स्टे आर्डर जारी करा लिया जिसके कारण SBI को जो Business मिलने वाला था वह अब टल गया है परंतु SAT के इस आर्डर के खिलाफ अब आईआरडीए Supreme Court पंहुचा है जहा से निवेशकों से जुडी इस बात को रखने के लिए पुख्ता सबूतों से साथ IRDAI की लीगल टीम अब तैयार है।

Company NameSahara India Pariwar
Company Owner or ChairmenSubrata Roy Sahara
Sahara Group Total NetworthMore Then $300 Crores
Company Websitehttps://www.saharalife.com/

Adipurush Criticism Explained – आलोचनाओं का सामना

ओम राउत की Adipurush Movie (Adipurush Movie Criticism) रिलीज होने के बाद एक तरफ भारत की सबसे बड़ी 2023 की Movie बनने जा रही है वही कुछ राम भक्त अब लगातार मूवी का बिरोध (Adipurush Contoversy) दर्ज कर रहे है। इसी के साथ Ramayana के कुछ वाक्यों का भी गलत रूप से उपयोग किया गया है जिसको लेकर रामलल्ला के भक्त मूवी को Boycott करने तक की धमकी दे रहे है। हालांकि मूवी ने अपने शुरुआती दिन में ही एक रिकॉर्ड तोड़ मुनाफे के साथ अपनी शुरुवात की है।

आदिपुरुष मूवी में कुछ ख़ास कलाकारों ने अपनी सबसे अच्छी एक्टिंग के प्रदर्शन को देने का प्रयास किया है वही मूवी में मुखय रूप से प्रभास, कृति सनोन, सनी सिंह समेत कुछ ख़ास सितारे आपको देखने के लिए मिलेंगे वही मूवी के कुछ हिस्सों को लेकर अब इन बॉलीवुड सितारों को भी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

आदिपुरुष फिल्म की क्यों हो रही है आलोचना?

जानकारी के अनुसार इस मूवी में रामायण के पत्रों को दर्शाया गया है जिसमे से कुछ हिस्सों को लेकर फिल्म के निर्माता को कई शिकायते प्राप्त हुई है वही अब फिल्म के निर्माता की टीम की और से यह संदेश प्राप्त हुआ है की “वह जल्द फिल्म के कई ऐसे हिस्सों को हटाया जायेगा जो निरंतर बिरोध का सामना कर रहे है” वही अगर इस फिल्म के Net Gross Revenue की बात करे तो वह कुछ इस प्रकार है।

 

Movie NameAdipurush
Movie Released on16 June 2023
Movie Director NameOM Raut
Actors In Movieprabhas, kriti sanon, saif ali khan, amitabh bacchan and more
Adipurush Movie Collection Day 1 Collection : Rs 133 Crores
Day 2 Collection : Rs 240 Crores
Day 3 Collection : Rs 300 Crores
Fact About MovieThis Movie Can be a superstar movie of 2023
Data as per news duniya media pvt ltd team.

आदिपुरुष मूवी पर क्या आरोप है?

सोशल मीडिया पर लगातार आदिपुरुष मूवी (Adipurush Movie Criticism) मूवी को बैन करने की मांग की जा रही है। राम भक्तों का कहना है कि मूवी ने रामायण को पूरा पलट कर रख दिया है वही पात्रों को मूवी में कुछ इस तरीके से दिखाया गया है कि मूवी धर्म पर नहीं बल्कि कला पर बनी हो वही रामायण के मुख्य पात्र जैसे श्री राम और सीता को बड़े ही खराब तरीके से मूवी में दर्शाया गया है जिसको देखने के बाद अब रामलला के भक्त इस मूवी को पूर्ण तरीके से बहन करने की मांग कर रहे हैं।

आदिपुरुष दिवस 3 का संग्रह क्या है?

हिंदुस्तान टाइम्स से मिल रही जानकारी के अनुसार मूवी ने अपने रिलीज होने के तीसरे दिन करीब 300 करोड़ रुपए का ग्रॉस कलेक्शन किया है।

क्या आदिपुरुष फ्लॉप फिल्म है?

आदिपुरुष मूवी ने अपने रिलीज होने के 3 दिन बाद तक काफी अच्छा प्रदर्शन किया है वहीं मूवी के इस ग्रॉस कलेक्शन को देखते हुए यह दिखाई दे रहा है की मूवी 2023 की सबसे अच्छी मूवी में से एक बन सकती है।

आदिपुरुष मूवी की रेटिंग क्या है?

गूगल बिजनेस के एक रिकॉर्ड के अनुसार मूवी को करीब 2.7% की रेटिंग दी जा रही है वहीं यह रेटिंग 19,695 लोगों द्वारा दी गई रेटिंग के हिसाब से तैयार की गई है।

Happy Fathers Day 2023 Quotes : फादर्स डे को और स्पेशल बनाने के लिए भेजे यह नए संदेश

Happy Fathers Day 2023 Quotes : पिता जिंदगी का वो साया है जो जब तक बच्चे के सर पर है तब तक उसको सभी परेशानियों का सामना पहले पिता करेगा। जॉब हो या बाहरी दिक्कते सभी में पिता काफी संघर्ष करता है वो भी केवल इस लिए की जो परेशानी उस पिता ने झेली वह कभी उसके बच्चो को न झेलनी पड़े।

पिता दिन रात केवल इसलिए मेहनत एवं मस्सकत करता है ताकि भविष्य में उसके बच्चो को किसी चीज की कमी महसूस ना हो आज Fathers Day के इस मौके पर हर वो पिता को हमारा सादर नमस्कार है जिसने अपनी पूरी जवानी केवल अपने और अपने परिवार की जिंदगी सवारने में लगा दी।

आज की इस Blog Post का ख़ास उद्देश्य इस Fathers day के खास मौके को समझना है वही आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे की इस ख़ास दिन की शुरुवात आखिर कब हुई थी वही इस दिन का खास उद्देश्य क्या है। तो चलिए जानते है कुछ प्रमुख कारण जिसके लिए इस फादर्स डे के शुभ अवसर को बनाया जाता है।

Fathers Day से जुडी कुछ बिशेष बाते जो आपको पता होनी चाहिए

  • Fathers Day एक ऐसा दिन माना जाता है जब हर बच्चा अपने पिता को वो हर परेशानी से लड़ने के लिए Thank You कहता है
  • बच्चा अपने पिता को एक अच्छा और बेहतर जीवन प्रदान करने के लिए पिता का धन्यवाद कहता है
  • फादर्स डे वैसे ज्यादातर हर देश में अलग अलग दिन मनाया जाता है
  • यह फादर्स डे पहली बार 1910 में वाशिंगटन (washington) के स्पोकेन में मनाया गया था
  • भारत,अमेरिका,चीन जैसे ज्यादातार देशो में यह दिवस मनाया जाता है

मुश्किल नहीं नामुमकिन है पिता का कर्ज चुकाना

Fathers Day या हिंदी में कहे तो पितृ दिवस एक ऐसा दिन है जिसका इजहार कोई भी बच्चा मूल शब्दो में नहीं कर सकता है क्योकि पिता जो अपने बच्चो के लिए करता है उसका ब्याज क्या उस लगन, सिद्दत, मेहनत का परिश्रम बच्चे कुछ शब्द क्या लाखो – करोडो रूपये देकर भी पिता को अदा नहीं कर सकते है क्योकि पिता बच्चे को जो सपने देखने की छूट प्रदान करता है, वह उसको पूर्ण करने की क्षमता भी रखता है बच्चा अगर एक डिमांड करे तो पिता उसको पूरा करने में जी जान लगा देता है इसलिए पिता का एहसान जिंदगी भर चूका पाना भी मुश्किल है।

Raed More Related Articles By Category

Make Money Online 2023 : इस ऑनलाइन स्टार्टअप को शुरू कर कमाए महीने के हजारो रूपये

Latest Startup Idea 2023 : अगर 2023 में आप भी अपना एक business शुरू करने की सोच रहे है तो आपके लिए हम एक नया business idea लेकर आये आये है जिसके माध्यम से आप एक काफी छोटे निवेश के साथ एक अच्छी कमाई या अंग्रेजी भाषा में कहे तो Earning भी कर सकते है वही इस ब्यबसाय के लिए आपके पास एक अच्छा मोबाइल फ़ोन या लैपटॉप होना बेहद जरुरी है। तो चलिए आपको बताते है की कैसे आप 2023 में ऑनलाइन कमाई कर अपने खर्चे खुद उठा सकते है।

How to make money online for beginners : आज हम आपको जिस बिजनिस के बारे में बताने वाले है वह है freelacing earn money online जिसके माध्यम से अगर आपने अपनी पूरी मेहनत और लगन के साथ अच्छा काम कर लिया तो आपको एक मोटा Revenue बनाने से कोई नहीं रोक सकता है तो चलिए अब आपको बताते है फ्रीलांसिंग से जुड़े कुछ ऐसे सीक्रेट जो आपको शायद ही पता हो परंतु इन सभी सीक्रेट्स को पढ़कर ही आप इस ब्यबसाय को शुरू करे।

अब कौन – कौन फ्रीलांसिंग प्लेटफॉर्म पर करे काम ?

वैसे तो बढ़ते सोशल मीडिया के ज़माने में कई सारे फ्रीलांसिंग वेबसाइट भारत में उपलब्ध है परंतु अगर आप फ्रीलांसिंग की दुनिया में अभी – अभी ही कदम रख रहे है तो आपके लिए freelancer.com और upwork ऐसे दो प्लेटफॉर्म है जिनके द्वारा आपको सर्बाधिक काम मिल सकता है वही ऑनलाइन पैसा कमाने को लेकर ऐसी और ब्लॉग पोस्ट पढ़ने के लिए जुड़े रहे दा बिजनिस लाइफ के साथ।

Sahara India Pariwar : सहारा निवेशकों को पैसा दिलाने के लिए कुर्की की कार्यबाही, अब ऐसे मिलेगा पैसा

Sahara India Pariwar News 2024 : अधिक ब्याज का लालच देकर गरीबो से पैसा लूटकर बैठी सहारा इंडिया परिवार के खिलाफ रायगढ़ कलेक्टर ने महत्वपुर्ण कार्यबाही के निर्देश जारी किये है आपको बता दे की अधिक ब्याज दर के लालच में निवेशक ने अपने एजेंट के माध्यम से सहारा में पैसा तो जमा कर दिया था परंतु पिछले लंबे समय रायगढ़ के निवेशक अपने पैसे का इंतजार कर रहे थे जिसको दिलाने के लिए अब प्रशाशन ने मामले में बड़ा रुख अपनाया है।


आपको बता दे की मामले में ताजा खबर निकलकर आ रही है जहा सहारा ग्रुप के शाखा प्रबंधक ओमप्रकाश शर्मा की 19 अंचल संपत्तियों को कुर्की करके लोगो का पैसा लौटाने की तैयारी इस समय छत्तीसगढ़ सरकार कर रही है क्योकि रायगढ़ जिले में हुई इस घंटना में एक बड़े गबन की घटना सामने आई है आपको बता दे की सहारा इंडिया ने रायगढ़ में करीब 3900 ग्राहकों से करीब 41 करोड़ रूपये का गबन किया है जिसके खिलाफ अब प्रशाशन सहारा इंडिया और उसके भगोड़े अधिकारियो के खिलाफ प्रभाबी कार्यबाही करने में जूटा हुआ है।

Read More : Sahara India Latest News : भुगतान को लेकर कपूरथला से बड़ी अपडेट, सहारा न्यूज़ रिफंड 2024



यह है पूरा मामला

मामले में जानकारी है की सहारा समूह के शाखा प्रबंधक ओमप्रकाश शर्मा के खिलाफ रायगढ़ कोर्ट में दिनांक 29 सितम्बर 2022 को बिकास निगानिया ने एक एफआईआर दर्ज कराई थी जिसमे पजीकृत आरोपियों में सहारा का बरिष्ट प्रबंधन सहित सहारा के एजेंटो के नाम भी शामिल थे वही इस एफआईआर में पुलिस द्वारा धारा 420, 120 बी, 34 सहित छत्तीसगढ़ निवेशकों के अधिनियम 10 छत्तीसगढ़ निक्षेपकों के हितों के संरक्षण अधिनियम, धारा 4, 5, 6 ईनामी चिटफंड सहित धन परिचालन पाबंदी स्कीम अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया था जिसमे अब प्रशाशन ने कार्यबाही करते हुए बड़ी कार्यबाही को अंजाम दिया है। 

इसी के साथ मामले को लेकर ताजा अपडेट है की मामले पर सुनबाई इस समय कलेक्टर कोर्ट में चल रही है।



Read More : Sahara India Vs Paytm : सहारा इंडिया मालिक सुब्रता रॉय की तरह फसा पेटीएम के मालिक का केस

इन लोगो ने निभाई महत्वपुर्ण भूमिका

सहारा इंडिया से पीड़ित निवेशक और एजेंट बंधू की ढाल बनकर इस कार्यबाही में विकास निगानिया, नरेश कंकरबाल सहित धरणीधर बाजपाई ने महत्वपुर्ण भूमिका निभाई है वही अब इस आर्डर के पारित होने के बाद निवेशकों की भुजी उम्मीदे अब दोबारा जाग गई है वही लोगो को अब छत्तीसगढ़ प्रशाशन से उम्मीद है की जल्द प्रशाशन उन लोगो के पैसा का रिफंड उनको जल्द दिलाएगा।



IBS Jaipur MBA Review, Hostel Fees and College Fees Full Review In Hindi

IBS JAIPUR MBA : देश में लगातार MBA की डिमांड बड़ी तेजी के साथ बढ़ रही है वही उसी कड़ी में अब मुंबई, पुणे सहित हैदराबाद की तरह राजस्थान भी अब MBA की शिक्षा बहाली में अपना योगदान दे रहा है जहा पर राजस्थान के जयपुर में बना ICFAI UNIVERSITY, Jaipur का यह कैंपस अपने आप में बिशालतम है वही मार्किट रिपोर्ट से पता चला है की कॉलेज गुणबकता शिक्षा प्रणाली के साथ MBA पासआउट हुए बच्चो के लिए प्लेसमेंट ट्रेनिंग भी प्रदान करता है तो चलिए आपको बताते है की आपको इस कॉलेज में आखिर कैसे एडमिशन मिल सकता है इसी के साथ हम आज की इस पोस्ट में इस कॉलेज की फीस सहित एवरेज प्लेसमेंट सहित हॉस्टल फीस समेत कम्पनीज पर भी नजर डालेंगे और जो आंकड़े हम बताएँगे वह ताजा आंकड़े है जिनमे कुछ भी “PAID NEWS” नहीं है बल्कि यह रिपोर्ट बच्चो के दिए गए आंकड़े एवं हमारी रिसर्च के आधार पर बताये गए है।



Read More : snap 2023 results declared : अब ले सकेंगे इन एमबीए कॉलेज में दाखिला, यहाँ देखे ताजा रिपोर्ट

कॉलेज की प्रोफाइल

College Name ICFAI UNIVERSITY, JAIPUR
Run By ICFAI DEEMED TO BE UNIVERSITY
Stared & Founded In Founded In 2003 as New B School In North India
Location Agra Rd, near Cambay Golf Resort, Jamdoli, Jaipur, Rajasthan 302031
Dean Name DR. Shweta Jain (as per college website)
College Average Placement 5 Lakhs (as per 2024 data)
College Highest Domestic Package 21 Lakhs (as per 2024 data)
Companies Participated In 2024 For Placements 27 Companies
Top Companies Coming For Placements ICICI Bank, Kotak Mahindra Bank, LS Digital, ICICI Securities, CRM Landing Software Pvt Ltd, Etc…



कॉलेज में कैसे ले सकते है एडमिशन

बाकी MBA कॉलेज की राह पर IBS यानी की इंडियन बिजनिस स्कूल का भी अपना एक एग्जाम रहता है जिसको IBSAT कहा जाता है जिसके स्कोर के आधार पर स्टूडेंट को उनकी ईमेल आईडी पर कॉलेज GDPI के लिए एक फॉलो अप ईमेल भेजता है वही स्टूडेंट इस कॉलेज में अप्लाई करने के लिए NMAT परीक्षा भी देकर इस कॉलेज में सीट हासिल कर सकते है।

GDPI की कॉल प्राप्त होने के बाद स्टूडेंट को एक ऑफलाइन सेशन के लिए हैदराबाद बुलाया जाता है जहा कॉलेज का बिशाल कैंपस भी बच्चो को दिखाया जाता है वही उसके बाद एक सिलेक्शन ब्रीफिंग के बाद GD यानी की “ग्रुप डिस्कशन” शुरू होता है जिसमे करीब 9 स्टूडेंट हिस्सा लेते है जिसके बाद उन स्टूडेंट का इंटरव्यू कंडक्ट कराया जाता है जिसके आधार पर कॉलेज फाइनल लिस्ट तैयार करता है हालांकि अगर 2024 में इस लिस्ट की बात करे तो IBS CALL LETTER इस साल फरबरी के आखिरी माह में जारी कर सकता है।

Read More : Top 3 MBA College In Pune, Cutt off average placement, यहाँ देखे पूरी रिपोर्ट



IBS जयपुर में क्या हॉस्टल की सुबिधा है

जब इस मामले में हमने कॉलेज के साथ बातचीत की तो हमको पता चला की IBS के ज्यादातर कैंपस रेजिडेंशियल बेसिस पर तैयार किये गए है वही कई कैंपस में हॉस्टल कॉमन है वही IBS के जयपुर कैंपस में भी हॉस्टल की सुबिधा उपलब्ध है।

IBS जयपुर की MBA की फीस क्या है

अगर आप भी आईबीएस जयपुर से एमबीए करने की सोच रहे है तो हम आपको बताना चाहेंगे की कॉलेज ने इस साल अपने 2024 – 26 की फीस में करीब RS 50,000 की बढ़तोरी की है जहा अब कॉलेज की फीस करीब RS 6 लाख कर दी गई है और अब अगर आप इसमें हॉस्टल भी जोड़ देते है तो आपको आपके दो साल के एमबीए के लिए करीब 7 लाख रूपये खर्च करने पड़ेंगे।



कॉलेज का प्लेसमेंट रिपोर्ट क्या है

जब हमने कॉलेज के प्लेसमेंट के बारे में रिपोर्ट ढूढ़ना शुरू की तो हमको यह मालूम चला है की भारत में चल रहे रिसेशन का असर इस कॉलेज पर भी देखने के लिए मिला है जहा पर कॉलेज में ज्यादातर बच्चो के प्लेसमेंट तो हो चुके है परंतु कॉलेज अब अपने बैच के कुछ बच्चो के प्लेसमेंट कराने में चूक रहा है क्योकि पिछले साल कॉलेज में करीब 37 कंपनियों ने हिस्सा लिया था जिसका आंकड़ा 2024 में गिरा है क्योकि इस साल कॉलेज में करीब 27 कंपनी ही रिक्रूटमेंट के लिए पहुंची है।



Vikshit Bharat 2047 Meaning : आखिर क्या है विक्षित भारत का गहरा राज, जानिए मामले की डिटेल रिपोर्ट

0

डेस्क रिपोर्ट, इकॉनमी : भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देश को संसद को संबोधित करते हुए 10 फरबरी 2024 को अमृत काल का जिक्र करते हुए भारत को Vikshit Bharat देश बनाने की राह पर Vikshit Bharat का शुभारंभ करते हुए कहा की भारत एक ऐसा सम्प्रदाय देश है जो की सबसे तेजी गति के साथ एक बिकसित इकॉनमी बनने जा रहा है वही ताजा सूत्रों के अनुसार हमको यह मालूम चला है की मोदी सरकार का यह महत्वपुर्ण लक्ष्य है की 2047 तक भारत को एक Devloped Country बनाना है जिसके लिए केंद्र सरकार जल्द कुछ बड़े प्रोजेक्ट्स को मंजूरी दे सकती है क्योकि धारा 370 एवं राम भूमि के बाद अब मोदी सरकार भारत को बिकसित भारत बनाने में जुट चुकी है। 



क्या होता है विकसित देश

भारत इस समय एक विकसित देश बनने के लिए कई हत्कंडे आजमा रहा है जहा एक और भारत को कई सफलताएं भी मिल रही है वही दूसरी तरफ देश को नुक्सान सहित परेशानी भी झेलनी पड़ रही है क्योकि देश में इस समय आई रिसेशन की समस्या सबसे गहरी है वही भारत द्वारा चलाये गए एयर प्रोजेक्ट जैसे चंद्रयान 3 सफलता की ओर अग्रसर है जिसमे हमारे बैज्ञानिको को कई परेशानी का सामना भी करना पड़ा है, इसी के साथ एक अच्छी बात यह भी है की अब हर भारतीय सर उठाकर कह सकता है की भारत भी अब उस बुलंदियो पर कायम है जहा अमेरिका और चीन जैसे देश है वही वो समय अब दूर नहीं जब भारत का बच्चा – बच्चा आंख उठाकर “भारत का नाम बड़े शान के साथ देश की विकसित सम्प्रदायों के सामने ले सकेगा क्योकि भारत जल्द एक बिशलतम देश माफ़ कीजियेगा एक बिशलतम डेव्लोपेड इकॉनमी” के रूप में खड़ा होगा।

Read More : Share Market News 2024 : पी.के यूनिवर्सिटी में निवेशकों के संरक्षण पर हुआ महत्वपुर्ण सेमीनार, निवेशक को बताये तरीके

एक विकसित देश की कुछ छवि होती है जैसे की

  • हर ब्यक्ति की आय उसके खर्चो से कई अधिक होती है
  • देश आयत करने से ज्यादा अपना माल बाहर निर्यात करता है
  • देश के पास खुद की टेक्नोलॉजी होनी चाहिए
  • देश में बाहर से कंपनी आकर पैसा इन्वेस्ट करनी चाहिए
  • देश की पावर्टी लाइन में सुधार आना चाहिए



भारत में नौकरी की समस्या

देश में इस समय सबसे ज्यादा खतरा प्राइवेट सेक्टर में चल रहे रिसेशन के कारण देखने के लिए मिल रहा है जहा पर कई आईटी, टेक, फिनटेक जैसी कम्पनीज लोगो को बाहर कर रही है क्योकि हालत इतनी ख़राब है की शरहोल्डर्स को उनका मुनाफा बढ़ाने के लिए इन कंपनियों को कॉस्ट कटिंग पर उतरना पड़ा है जिसमे एक कंपनी का ज्यादातर खर्चा उसके एम्प्लाइज के बेतन सहित रीइमबर्समेन्ट के कारण बढ़ता है जिसके कारण लगातार आईटी सेक्टर अपने एम्प्लाइज को बहार करता नजर आ रहा है वही इन कम्पनीज में देश की कुछ प्रमुख कंपनी के नाम भी शामिल है जिसमे माइक्रोसॉफ्ट, गूगल, मेटा, स्पॉटीफी, विप्रो सहित अनअकादमी भीं इन लिस्ट की सर्बोत्तम लिस्ट में शामिल है।

Read More : सहारा मामले में सांसद महाबली सिंह से मिले सहारा निवेशक, बताई भुगतान की परेशानी

 



जानिए वर्ल्ड बैंक के अनुसार विकसित देश क्या होता है

वर्ल्ड बैंक के अनुसार एक विकसित देश में जो लोगों की आय होती है वह हमेशा उनके खर्चों से ज्यादा होती है, जानकारी के अनुसार वर्ल्ड बैंक के मुताबिक अगर किसी देश में प्रति व्यक्ति आय सालाना $12000 जो की भारतीय रुपयों में नापी जाए तो करीबन 10 लाख रुपए से ज्यादा होती है तो वह देश एक विकसित देश माना जाता है वहीं अगर यह दर भारत के हिसाब से नापी जाए तो भारत की अधिकतर टेर 2 और टियर तीन जिलों मे लोगों की आय इनकम टैक्स के स्लैब से भी काफी नीचे है वही भारत में लगातार टैक्स चोरी की घटनाएं भी सामने आती रहती हैं जो की सरकार के ऊपर एक बहुत बड़ी दिक्कत की परेशानी है क्योंकि एक विकसित देश होने के नाते भारत को अपने टैक्स के सम्बंधित परेशानी को सुधारना पड़ेगा वहीं जो लोग टैक्स बचाने के चक्कर में पैसे को इर्द गिर्द करते हैं उनके ऊपर सरकार को कड़ी पाबंदियां लगानी पड़ेगी।



आपकी राय देना न भूले

क्या भारत 2047 तक एक विकसित देश बन सकेगा इस पर अपनी राय देने के लिए आप इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए अपने फेसबुक, ट्विटर एवं इंस्टाग्राम पर News Duniya Pvt को टैग करके इस पोस्ट को पब्लिश कर सकते हैं, हम आप की पोस्ट का स्क्रीनशॉट लेकर अपने फेसबुक एवं सोशल मीडिया हैंडल्स पर उसको रिपोस्ट करेंगे वही अगर आप इस विकसीत भारत में अपनी किसी राय को हमको बताना चाहते है तो आप हमारी ईमेल आईडी support@thebusinesslife.in पर भी हमको ईमेल के माध्यम से आपकी बातें भेज सकते हैं जिसको पहले हमारी टीम जाचेगी और अगर वह अच्छी लगती है और लोगों को बताने के लिए वह प्रेरणादायक होती है तो हम उसको पब्लिश करने का काम भी जरूर करेंगे।



Sahara India Latest News : भुगतान को लेकर कपूरथला से बड़ी अपडेट, सहारा न्यूज़ रिफंड 2024

Sahara India Latest News : सहारा इंडिया कंपनियों में अपना पैसा निवेश करना निवेशकों को बहुत भारी पड़ा है जानकारी के अनुसार बड़े मुनाफे और ब्याज के आकर्षण में जिन भी निवेशकों ने अपने जीवन भर की पूंजी सहारा इंडिया में जमा की थी उसको लेकर केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट की इजाजत पर एक सहारा सी.आर.सी.एस रिफंड पोर्टल को जारी किया था जिस पर निवेशकों ने करीब 1 करोड़ से ज्यादा आवेदन फाइल किये थे परंतु उनमे से 1% भी निवेशकों को उनकी राशि बापस नहीं मिल पाई है जिसमे असली दोष सहारा इंडिया परिवार का सामने निकलकर आ रहा है। 



सोसाइटी के पास निवेशकों का डाटा मौजूद नहीं

सहारा इंडिया के हर केस में यह देखा गया है की जब भी सहारा इंडिया पर केस उठता है और सरकार भुगतान के लिए सहारा से उसके निवेशकों का डाटा मांगती है तो सहारा के पास कभी भी वह उपलब्ध नहीं होता है वही सहारा की सहकारी समितियों में भी यही देखा गया है जहा निवेशकों से अब सहारा एजेंटो के माध्यम से शेयर फॉर्म भरवाए जा रहे है और इन शरीफॉर्म का ख़ास उद्देश्य सहारा इंडिया के निवेशकों का डाटा अपने सिस्टम में पंच कराने के लिए सहारा इंडिया ने अपने कर्मचारियों को काम पर लगाया है।




जानकारी के अनुसार हमको पता चला है कि सहारा इंडिया ने हर ब्रांच पर अपने रीजन कार्यालय के माध्यम से एक लिस्ट प्रदान की है जिसमें उन निवेशकों का नाम है जिनकी कमी सहारा रिफंड पोर्टल पर आई है जानकारी के अनुसार इस कमी में तीन प्रमुख कमियां मौजूद है सबसे पहले कमी समिति डेटाबेस में निवेशक का डाटा मौजूद नहीं है, दूसरा समिति के शेयर फार्म पर निवेशक हेतु समिति की सील पालिसी कार्ड पर अधिकृत नहीं है और तीसरी प्रमुख कमी का वजह इस समिति के समिति कार्ड पर निवेशक का शेयर फॉर्म अपलोड नहीं है।

सहारा इंडिया क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी शेयर फॉर्म डाउनलोड 2024 लेटेस्ट फॉर्म

क्या शेयर फॉर्म भरना अनिवार्य है

सहारा इंडिया की ज्यादातर कंपनियों में जब भी कोई निवेशक अपना पैसा जमा करता है तो वह कंपनी का एक वैद्य शेयर होल्डर बन जाता है ऐसा ही सहारा इंडिया की सहकारी समितियां में हुआ करता था जहां पर निवेशक अगर अपना 10 हजार से लेकर 10 करोड़ भी जमा करता था तो वह समिति का एक मेंबर बन जाता था वही यह मेंबर को एक शेयर सर्टिफिकेट अलॉट किया जाता है जब सहारा एजेंट से इस मामले में बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि हमने शेयर फॉर्म जब एफडी खुलवाई थी तब भी भरवाये थे परंतु उनको प्रबंधन ने रद्दी की टोकरियों में डाल दिया था तभी हम लोगों को अब दोबारा प्रबंधन आदेश दे रहा है कि जल्द से जल्द लोगों के शेयर सर्टिफिकेट अपलोड करवाये जिसके लिए सहारा इंडिया परिवार ने एक ऐप जारी किया है जिस पर एजेंटो को पूरा डाटा अपलोड करने के लिए कहा गया है वही सहारा रिफंड पोर्टल में सरकार से ज्यादा गलतियां इस समय सहारा इंडिया का प्रबंधन कर रहा है कंपनी ने केवल कमीशन लेना सीखा है जबकि जब कार्य करने की बारी आती है तो कंपनी सबसे पीछे हो जाती है।

जब हमने सहारा एजेंट से बात करते हुए उनसे पूछा कि क्या शेयर फॉर्म भरना अनिवार्य है तो उन्होंने बताया कि निवेशक अगर शेयर फॉर्म नहीं भरेगा या एजेंट निवेशक का शेयर फॉर्म नहीं भरेगा तो उनकी पोर्टल पर आई कमी कभी भी खत्म नहीं होगी और उस केस में उनका पैसा मिलना असंभव हो जाएगा वहीं कई ऐसे शहर के क्षेत्र है जहां पर ब्रांच बंद है तो निवेशक अपने रीजन कार्यालय पर मामले को लेकर बातचीत करें और शेयर फॉर्म जल्द से जल्द भर दे क्योंकि अगर निवेशक शेयर फॉर्म अपलोड नहीं करता है तो वह री सबमिशन पोर्टल के जरिए अपना पैसा वापस नहीं ले पाएगा।



Share Market News 2024 : पी.के यूनिवर्सिटी में निवेशकों के संरक्षण पर हुआ महत्वपुर्ण सेमीनार, निवेशक को बताये तरीके

डेस्क रिपोर्ट, बिजनिस : खबर शिवपुरी जिले के पी.के विश्वविद्यालय से है जहा पर शिवपुरी के मुख्य परिसर में भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) एवं बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के तत्वाधान में संयुक्त रूप से निवेशक जागरूकता पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।



निवेशकों के हितो के संरक्षण हेतु हुआ सेमिनार

सेमीनार में पी.के विश्वविद्यालय के सभी वरिष्ठ अधिकारयों ने हिस्सा लिया सेमिनार को आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य निवेशकों के हित के लिए सेबी द्वारा उठाये गए क़दमों को बताना एवं साथ ही साथ सही वित्तीय योजना बनाते हुए प्रतिभूतियों के बारे में लोगों को अवगत कराना था कार्यक्रम का शुभारम्भ सेबी के श्री मृदुल रस्तोगी, (एजीएम), द्वारा किया गया।



कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सेबी के के श्री मृदुल रस्तोगी, (एजीएम) जी ने जीवन के विभिन्न चरणों में बचत के विभिन्न तरीकों के साथ साथ निवेशको के तरीकों के विषय में विस्तार से बताया गया इसी के साथ उन्होंने ये भी बताया कि सेबी के द्वारा निवेशकों के हितों का ध्यान रखते हुए नए दिशानिर्देश बनाये जा रहे हैं वही प्रतिभूति बाजार में किसी भी मध्यस्थ जैसे एजेंट, दलाल, कंपनी, मर्चेंट बैंकर आदि द्वारा निवेशकों से धोखाधड़ी किये जाने पर सेबी ने बहुत ठोस कदम उठाये हैं इसी के साथ निवेशक सेबी कि वेबसाइट पर जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

जारी हुआ सारथि एप
सेबी के द्वारा हाल ही में सारथी एप्प भी जारी किया गया है , जिसे डाउनलोड करके निवेशक सुरक्षित निवेश कर सकते हैं वही भारत एक विकासशील देश के रूप में निरंतर आगे बढ़ रहा है जिसमे निर्यात, कृषि, MSME, स्टार्ट- अप जैसे कई क्षेत्रों में देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति मजबूत हो रही है यही सही समय है कि जब लोगों को प्रतिभूति बाजार के विषय में विस्तार से जानकारी मिले ताकि लोग अपने हितों का ध्यान रखते हुए सही एवं सुरक्षित निवेश के तरीके को समझ सके और एक बेहतर वित्तीय प्रबंधन की ओर अग्रसर हो।

भारतीयत बाजार में स्टॉक एक्सचेंज की भूमिका

द्वितीय सत्र में मृदुल रस्तोगी, (एजीएम) जी ने शेयर बाजार में स्टॉक एक्सचेंज की भूमिका के विषय में विस्तारपूर्वक जानकारी दी उन्होंने बताया कि किस प्रकार से बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में किस प्रकार से कंपनियों की रैंकिंग के आधार पर अंशो को सूचीबद्ध किया जाता है निवेशकों को निवेश करने से पूर्व कंपनी की बैलेंस – शीट, पिछले वर्षों के प्रदर्शन एवं सेबी के मापदंडों को ध्यान में रखते हुए पंजीकृत एजेंट के द्वारा ही निवेश करना चाहिए यह कार्यक्रम पूरे मध्य प्रदेश राज्य के हर जिले में सेबी के द्वारा आयोजित किया जा रहा है।



Sahara India News Today : भुगतान को लेकर सरकार से बड़ी खबर, यहाँ देखे लेटेस्ट न्यूज़

1

Sahara India News Today : सहारा इंडिया की चार सहकारी समितियों में पैसा लगाने वाले निवेशकों के लिए जारी हुए Sahara Refund Portal को लेकर बड़ी खबर सीधे लोकसभा से आ रही है जहा पर निवेशक जिस तरीके से अपना आंदोलन देश की प्रमुख जगहों पर कर रहा है जिससे केंद्र सरकार भी हिली हुई है आपको बता दे की एक साथ 6 सांसदों ने सहारा इंडिया के भुगतान पर सीधे सहकारिता बिभाग (Ministry of Cooperation) से मामले को लेकर सवाल पूछे है जिसमे अमित शाह (Amit Shah) के सहकारिता बिभाग से जो जबाब आये है वह भी आज आप इस पोस्ट में पढ़ सकते है। 

Read More : Sahara India Vs Paytm : सहारा इंडिया मालिक सुब्रता रॉय की तरह फसा पेटीएम के मालिक का केस



इन सांसदों ने सहकारिता मंत्रालय से पूछे सवाल

जानकारी के अनुसार सहारा इंडिया परिवार की सहकारी समिति में पैसा लगाने वाले निवेशक एवं अभिकर्ताओं पर तीखे सवाल पूछते हुए बिपक्ष से श्रीमती डिंपल यादव, श्रीमती संगीता कुमारी सिंह देव, श्री बिनोद कुमार सोनकर, श्री भोला सिंह, श्री राजा अमरेश्वर नाईक, डॉ सुकान्त मजूमदर ने इस मामले को उठाया जहा पर केंद्र सरकार से इस मामले को लेकर सवाल तलब किये गए।

Read More : Sahara India News 2024 : स्वप्ना रॉय सहारा की जमानत याचिका ख़ारिज कराने तीस हजारी कोर्ट पंहुचा यह संगठन, जताया भारी बिरोध

Sahara Refund News Today: Big news from the government regarding payment, see latest news here



सहारा भुगतान पर सांसदों ने पूछे यह सवाल

अपना सवाल पूछते हुए सांसदों ने पूछा की क्या सरकार द्वारा शुरू किया गया यह पोर्टल कई सारी तकनिकी समस्या का सामना कर रहा है जिससे निवेशक का डाटा नहीं भरा हो पा रहा है, इसी के साथ केंद्र सरकार ने इस बात का जबाब देते हुए बताया की पोर्टल पर कोई भी ऐसी खामी नहीं आ रही है जिससे निवेशकों को टेक्निकल असुबिधा हो इसी के साथ सरकार ने अपने जबाब में इस रिफंड पोर्टल का ब्यौरा भी दिया गया है की कैसे और किस प्रकार इस रिफंड पोर्टल को लाया गया था।

इसी के साथ सांसदों ने अपना दूसरा सवाल पूछते हुए सवाल पूछा की क्या सरकार को सीआरसीएस सहारा रिफंड पोर्टल में प्रतिदाय दावे जमा न करने की शिकायते मिली है जिसमे तत्सम्बन्धी ब्यौरा क्या है और अब तक मामले में सरकार को कितनी शिकायते प्राप्त हुई है और कितनी हल की गई है जिसमे सहकारिता मंत्रालय ने जबाब देते हुए बताया है की सरकार को अभी तक करीब 1.21 करोड़ आवेदन पंजीकृत हुए है जिनमे से कई पंजीकृत हुए आवेदनों में कमी की शिकायते भी प्राप्त हुई है जिसके लिए केंद्र सरकार ने 15-11-2023 को एक पुनः री सबमिशन पोर्टल जारी कर दिया है इसी के साथ सरकार ने यह भी बताया की करीब 258.47 करोड़ रूपये की धनराशि जारी की गई है।



Sahara India Vs Paytm : सहारा इंडिया मालिक सुब्रता रॉय की तरह फसा पेटीएम के मालिक का केस

डेस्क रिपोर्ट, बिजनिस : भारत में लगातार Fintech और Non Financial कंपनी एका – एक बंद होती जा रही है जिनकी प्रमुख वजह कस्टमर को बेहतर सर्विस न देने के साथ बैंकिंग रेगुलेशन के नियमो का घोर उल्लघन है जहा पर एक समय जून 2008 में सहारा इंडिया फाइनेंसियल कारपोरेशन लिमिटेड (SIFCL) को जिस तरह से नॉन फाइनेंसियल बैंकिंग (NBFC) के आधार पर रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) ने कंपनी का लाइसेंस निरस्त किया था उसी तरह का हाल आज पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड (PPBL) का हो रहा है।

जब सहारा इंडिया परिवार के मालिक सुब्रत रॉय सहारा और पेटीएम समूह के मालिक विजय शेखर शर्मा के ऊपर हमारी टीम रिसर्च कर रही थी तो हमको इस मामले को लेकर दो संदिग्ध खबरे पता चली है तो चलिए आपको भी बताते है ऐसी दो स्थिति जब पेटीएम का मालिक का हाल बिलकुल सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय की तरह प्रतीत हो गया है।



आरबीआई ने पेटीएम का बैंकिंग लाइसेंस रद्द कर दिया है

जानकारी के अनुसार पेटीएम पेमेंट्स बैंक को लेकर रिजर्व बैंक आफ इंडिया की ओर से जारी एक अध्यादेश के मुताबिक पेटीएम पेमेंट्स बैंक को कोई भी नए ग्राहक से पैसा निवेश कराने से रोक दिया गया है, हालांकि कंपनी की एक मार्केट रिपोर्ट जारी हुई है जिसमें कंपनी के शेयर भाव काफी ज्यादा निचले स्तर पर पाए गए हैं, इसी के साथ कंपनी के नए शेयर खरीदने के लिए भी निवेशक डर रहे हैं क्योंकि इस समय काफी अच्छी स्थिति में नहीं है आपको बता दें कि पेटीएम ने यह जाहिर कर दिया है कि उसकी यूपीआई सर्विस 29 फरवरी 2024 तक सही रूप से संचालित रहेगी हालांकि रिजर्व बैंक आफ इंडिया ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक के निवेशकों को बताया है कि वह 29 फरवरी के बाद भी अपने पैसे को पेटीएम पेमेंट्स बैंक से निकाल सकते हैं इसी के साथ कंपनी को भी निर्देशित किया गया है कि वह जल्द से जल्द लोगों का पैसा उनको लौटा दे।

Read More : paytm payment bank closed: क्या बंद होने वाला है पेटीएम आ रही मामले पर बड़ी खबर



यह है पेटीएम के मालिक

paytmआपको बता दे की पेटीएम पेमेंट्स बैंक के मालिक का नाम विजय शेखर शर्मा है जिनका जन्म 7 जून 1978 को अलीगढ में हुआ था वहीं विजय शेखर शर्मा भारतीय आईटी इंडस्ट्री के एक जाने माने बिजनेसमैन है जो की one97 कम्युनिकेशन के अध्यक्ष है वहीं उन्होंने one97 कम्युनिकेशन की स्थापना सन 1997 में की थी जिसके बाद उन्होंने 2010 में पेटीएम की शुरुआत बतौर डीटीएच रिचार्ज सेवा के साथ शुरू की थी आपको बता दे कि इन्होंने अपनी शिक्षा दिल्ली के इंजीनियरिंग कॉलेज से पूर्ण की है।

Read More : Sahara India News 2024 : स्वप्ना रॉय सहारा की जमानत याचिका ख़ारिज कराने तीस हजारी कोर्ट पंहुचा यह संगठन, जताया भारी बिरोध



सहारा की तरह सपा से जुड़ा है कनेक्शन

इस मामले पर रिसर्च करते हुए हम को मालूम चला कि 2017 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने के लिए विजय शेखर शर्मा एक ऑटो रिक्शा के जरिए उनके निज निवास पर जा रहे थे उस समय काफी ज्यादा जाम की स्थिति निर्मित हो गई थी जिसके बाद जैसे तैसे उस ऑटो ड्राइवर ने शर्मा को समय पर अखिलेश के घर तक पहुंचाया था जिसके बाद उस ड्राइवर की मुलाकात उस दौर के सीएम रहे अखिलेश यादव से हुई थी वही अखिलेश यादव ने उस ड्राइवर को ₹6000 समेत एक ई-रिक्शा प्रदान की थी जिसका ट्वीट उन्होंने उनके ट्विटर हैंडल पर भी किया था वहीं दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस रिपोर्ट को सिद्ध किया गया है।

आपको बता दें कि सहारा की भी समाजवादी पार्टी में एक अलग छवि थी क्योंकि सुब्रत राय मुलायम सिंह यादव के खास आदमी माने जाते थे सहारा का कोई मेगा इवेंट हुआ करता था तो उसमें प्रमुख रूप से मुलायम सिंह यादव और उनकी पूरी फैमिली सम्मिलित हुआ करती थी सहारा प्रमुख की तबीयत बिगड़ती थी तो मुलायम सिंह पहले व्यक्ति हुआ करते थे जो उनसे मुलाकात करने आया करते थे वहीं जब मेदांता अस्पताल में मुलायम सिंह यादव अपने अंतिम समय में एडमिट थे उस समय भी सहारा प्रमुख उनसे मिलने पहुंचे थे जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर एक बडे समय तक चर्चा का बिषय बना हुआ था।

Read More : सहारा इंडिया निवेशक फरबरी में निकालेंगे रथ यात्रा, सहारा इंडिया लेटेस्ट न्यूज़ 2024 today

जब कई फाइनेंशियल एक्सपर्ट से इस मामले पर बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि यह एक पॉलीटिकल एजेंडा भी हो सकता है जिसमें लगातार भारतीय जनता पार्टी एक तरफ सभी विपक्षी पार्टियों पर हमलावर है वहीं इस स्थिति को देखते हुए यही प्रतीत हो रहा है कि भारतीय जनता पार्टी ने समाजवादी पार्टी और अन्य पार्टियों के संबंधित कंपनियों पर लगातार अपना आक्रोश जमाया हुआ है जिसमें एका – एक यह कंपनियां लगातार बंद होती जा रही है।




सेबी से पंगा लेना सहारा को बहुत महंगा पड़ा था

सहारा इंडिया पर जब भी बात आती है तो सेबी का नाम सबसे पहले निकाल कर आता है क्योंकि सहारा पर सबसे ज्यादा परेशानी अगर कुछ आई है तो वह सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड आफ इंडिया (SEBI) के तौर पर आई है क्योंकि कंपनी पिछले काफी लंबे दौर से काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही थी वहीं कंपनी को सबसे पहला झटका सन 2008 में लगा था जब कंपनी को रिजर्व बैंक आफ इंडिया ने एक बड़ा झटका देते हुए अपना लाइसेंस निरस्त करने का आदेश दिया था इसके बाद कंपनी की बागडोर 2010 से ही बिगड़ना शुरू हो गई थी क्योंकि सेबी ने प्रमुख रूप से सहारा की दो बड़ी कंपनियों पर नजर गड़ाना शुरू कर दिया था क्योंकि कंपनियों की हेरा फेरी की खबरें लगातार सेबी के मुख्यालय पर पहुंच रही थी इसके बाद सेबी ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए सहारा प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाते हुए इस मामले को देश की अदालत में खींच दिया था इसके बाद कई सालों के लिए सुब्रत राय सहारा को तिहाड़ जेल का रास्ता भी काटना पड़ा था और तब से ही आज तक सहारा इंडिया परिवार दोबारा संभल नहीं पाया है और ऐसे ही खास स्थिति आज पेटीएम पेमेंट बैंक के साथ में देखने के लिए मिल रही है अगर यही स्थिति निर्मित होती है तो पेटीएम दोबारा भारत में ब्यबसाय करने की स्थिति में नहीं रहेगा जिसमें कई लाखों इन्वेस्टर्स का बड़ा नुकसान होने की आशंका है।



paytm payment bank closed: क्या बंद होने वाला है पेटीएम आ रही मामले पर बड़ी खबर

paytm payment bank closed : अगर आप भी एक पेटीएम के ग्राहक है और बतौर यूपीआई ट्रांसक्शन के लिए पेटीएम का उपयोग करते है तो आपको बता दे की रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड को कोई भी नया इंवेस्टमेन्ट लेने से साफ़ इंकार कर दिया है क्योकि लगातार पेटीएम रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के निर्देशों को नजरअंदाज कर रहा था जिसके बाद पेटीएम के खिलाफ यह आदेश जारी किया गया है।



अब नए ग्राहकों से पैसा नहीं ले पायेगा पेटीएम

नए बैंकिंग रेगुलेशन एक्ट के मुताबिक पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड को रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने कोई भी नए ग्राहक से पैसा लेने के लिए साफ इनकार कर दिया है वहीं जिन भी लोगों का पैसा पेटीएम पेमेंट्स बैंक में जमा है वह अपने पैसे को 29 फरवरी से पहले निकाल सकते हैं जिसके लिए पेटीएम को रिजर्व बैंक आफ इंडिया ने एक नोटिस भी जारी कर दिया है, कई लोगों का यह पूछना है कि अब पेटीएम जिससे हम दुकानों पर या अन्य जगह पेमेंट किया करते थे वह बंद हो जाएगा क्या, तो उसका जवाब हम आपको बता देते हैं।



जब हमने इस मामले को लेकर रिजर्व बैंक आफ इंडिया से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि हमने केवल पेटीएम के पेमेंट्स बैंक पर रोक लगाई है वही पेटीएम की जो बाकी की सर्विसेज है वह पूर्ण रूप से संचालित रहेगी वही जो लोग पेटीएम के ग्राहक हैं और अपने बैंक खाते से वह पेटीएम के जरिए लेनदेन की प्रक्रिया करते हैं तो वह लोग आसानी से उस प्रक्रिया को कर सकेंगे परंतु जिन लोगों का पैसा पेटीएम पेमेंट्स बैंक में फंसा है वह अपने पैसे को जल्द से जल्द निकलना शुरू करदे क्योंकि सरकार द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार वह केवल 29 फरवरी तक ही अपने पैसे को पेटीएम बैंक से निकाल सकते हैं।



Sahara India News 2024 : स्वप्ना रॉय सहारा की जमानत याचिका ख़ारिज कराने तीस हजारी कोर्ट पंहुचा यह संगठन, जताया भारी बिरोध

Sahara India News 2024 : सहारा इंडिया परिवार की चैयरमेन श्रीमति स्वप्ना रॉय (swapna roy) समेत कंपनी के पैराबैंकिंग अधिकारी ओपी श्रीवास्तव (op shrivastava) के खिलाफ धोखाधड़ी का एक मामला दिल्ली में दर्ज हुआ था जिसमे एफआईआर करता का आरोप था की उसने सहारा इंडिया (sahara india) की सहकारी समितियों में अपना पैसा जमा किया था परंतु समय अवधि पूर्ण होने के बाद भी सहारा इंडिया ने उस निवेशक को उसका पैसा नहीं लौटाया जिसके बाद निवेशक ने कंपनी के बरिष्ट अधिकारी एवं प्रबंधकर्ताओ के खिलाफ एफआईआर क्रमांक 0712/2022 दर्ज कराई थी जिसमे आज तीस हजारी कोर्ट नई दिल्ली में जमानत याचिका पर सुनबाई थी।

Read More : Adarsh Credit Refund Update : मोदी सरकार से Refund पर बड़ा अपडेट, अब मिलेगा पैसा बापस



जमानत याचिका पर जताया बिरोध

सहारा इंडिया के बंचित एवं पीड़ित निवेशकों और अभिकर्ताओं की लड़ाई लड़ रहे सयुक्त आल इंडिया संघर्ष न्याय मोर्चा के राष्ट्रिय अध्यक्ष श्री शुक्ला ने कहा की निवेशकों का पैसा इस तरीके से सहारा और उनके अधिकारियो को डकारने नहीं दिया जायेगा, अभय जी ने कहा की संगठन लगातार निवेशकों को उनकी पाई – पाई का भुगतान दिलाने के लिए कठोर तरीके से प्रयासरत है जिसमे वह आंदोलन के साथ लीगल तौर पर भी लड़ाई लड़ने की तैयारी कर रहे है आपको बता दे की इस जमानत याचिका का बिरोध करने के बाद संगठन ने आज जंतर मंतर पर भी अपने भुगतान की मांग सरकार और सहारा प्रबंधन के सामने रखी।



सुनबाई आगे बढ़ी

मामले को लेकर ताजा जानकारी के मुताबिक यह जमानत याचिका की सुनवाई की तारीख कोर्ट द्वारा आगे निर्धारित कर दी गई है क्योकि एप्लिकेंट के और से उनके बकील कल सुनवाई के लिए कोर्ट रूम में नहीं पहुंच पाए थे।




Adarsh Credit Refund Update : मोदी सरकार से Refund पर बड़ा अपडेट, अब मिलेगा पैसा बापस

डेस्क रिपोर्ट, बिजनिस : अगर आपका भी पैसा आदर्श क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी (Adarsh Credit Refund Update) में फसा है और आप भी अपने भुगतान (Refund) का इंतजार कर रहे है तो आपके लिए केंद्र सरकार से बड़ी खबर आ रही है, जानकारी के अनुसार सहारा इंडिया (Sahara India) की सहकारी समितियों के प्रारूप में अब केंद्र सरकार आदर्श वालो के भुगतान की ब्यबस्था करने जा रही है वही सूत्रो के हवाले से आ रही खबर के मुताबिक सरकार इस समय पोर्टल लाने पर बिचार कर रही है क्योकि आने वाले लोकसभा चुनाव 2024 (Loksabha Elections 2024) में चिटफंड एक बड़ा मामला है जिसको निपटाने अमित शाह तगड़ा प्रयास कर रहे है।



मोदी सरकार का सहकार से समृद्धि

आपको बता दे की केंद्र सरकार केंद्रीय पंजीयक एवं सहकारी समितियों को मजबूत करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे है जहा एक और सरकार ने PACS के प्रारूप में नए कानून तैयार किया है वही सहारा इंडिया की सहकारी समिति समेत आदर्श क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड एक सबसे बड़े चर्चा के बिषय थे जिसको सुलटाने की जिम्मेदारी खुद सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने अपने ऊपर उठाई वही उसी प्रारूप में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से सहारा सेबी केस के पड़े Rs 25,000 में से Rs 5000 करोड़ लेने का फैसला बनाया था जिसके बाद सरकार ने जुलाई 18 2023 को निवेशकों के भुगतान के लिए CRCS सहारा रिफंड पोर्टल भी जारी किया था।

Read More : Adarsh Credit Cooperative News : एक समय सहारा इंडिया और LIC को टक्कर देती थी यह कंपनी, आज है यह हालत



आपको बता दे की आदर्श क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी के पास करीब 9000 करोड़ की प्रॉपर्टी सहित एसेट मौजूद है जिनकी नीलामी कर सरकार निवेशकों को उनका भुगतान देने की तैयारी कर सकती है आपको बता दे की देश में लगातार चिटफंड बिषय पर कई बार आंदोलन हो चुके है जिसका खामयाजा देश की पुलिस को उठाना पड़ता है वही यह आंदोलन दिल्ली, लखनऊ, पटना, भोपाल, ग्वालियर, रतलाम जैसे महानगरों में हुए है जिसमे काफी ज्यादा यातायात भी प्रभाबित होता है वही अब सरकार रिफंड विंडो के लिए नए संरक्षण अपना सकती है जिसके बारे में जल्द सूचित भी किया जा सकता है।

Read More : Sahara India New Letter : क्या Swapna Roy सहारा ने जारी किया यह लेटर, सहारा हुआ गुमनाम



सहारा भुगतान में भी आ सकती है तेजी

देश में लोकसबाह चुनावो की सदगर्मी तेज हो चुकी है जहा एक तरफ कांग्रेस नेता राहुल गाँधी अपने भारत जोड़ो न्याय यात्रा से देश को जोड़ने के लिए सभी प्रदेशो का दौरा कर रहे है वही बीजेपी के प्रमुख सूत्रों के अनुसार यह पता चला है की कांग्रेस आगामी चुनावो में चिटफंड कंपनी और अडानी को एक बड़ा हत्यार बना सकती है वही देश की मोदी सरकार कांग्रेस को कोई मौका देना नहीं चाहती है वही उसी प्रारूप में मोदी सरकार ने सहारा रिफंड पोर्टल घोषित किया था जिसके बाद उसमे आई कमियों के सुधार के लिए सहारा इंडिया री सबमिशन पोर्टल भी जारी किया गया है जिसके भुगतान में सेंट्रल रजिस्ट्रार ऑफ़ कोआपरेटिव सोसाइटी को अमित शाह ने भुगतान की प्रिक्रिया में तेजी लाने के लिए आदेशित किया है।

जानकारी के अनुसार चुनावो के पहले तक सरकार हर किसी सहारा निवेशकों के बैंक खातों में पैसा भेजने पर प्रयास कर रही है जिससे देश का चिटफंड पीड़ित केवल मोदी सरकार के कमल के फूल पर अपना मतदान दे सके।