Adarsh Credit Cooperative News : एक समय सहारा इंडिया और LIC को टक्कर देती थी यह कंपनी, आज है यह हालत

डेस्क रिपोर्ट, बिजनिस : भारतीय इन्वेस्टमेंट मार्केट एक समुद्र की तरह है जहां पर कई लोग पूरी निष्ठा के साथ धंधा करने आते हैं तो उनमें से 10 प्रतिशत लोग Company या Society बना कर लोगों का पैसा गलत तरीके से पहले तो निवेश करा लेते हैं जिसके बाद उस पैसे का उपयोग करते हैं,आज की इस Blog Post में हम आपको ऐसे ही एक कंपनी या फिर कहे एक समिति के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने अपनी Ponzi Scheme के जरिए लोगों का पैसा हड़प तो लिया था और अपने मन मुताबिक तरीके से उन पैसे का उपयोग किया जा रहा था इसके बाद आज तक वह कंपनी लोगों का पैसा नहीं लौटा पाई है, वही एक दौर था कि यह कंपनी दिग्गज कंपनियों को टक्कर देती हुई दिख रही थी तो चलिए आपको बताते हैं Adarsh Credit Cooperative Society के बारे में। 

आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी पोंज़ी स्कीम संचालक समिति MSCS ACT 1986 के अंतर्गत रजिस्टर्ड कराई गई थी, हालांकि कंपनी की शुरुआत 1999 में हुई थी वहीं कंपनी का स्टार्टअप राजस्थान से शुरू हुआ था, जहा पर सोसाइटी ने निवेशकों से काफी बड़े वाडे किये थे इसी के साथ जो ब्याज सोसाइटी देने के लिए क्लेम करती थी वह भी उस दौर की कंपनियों से काफी अधिक हुआ करते थे वही देखते – देखते यह सोसाइटी ने मप्र, उप्र में भी बिस्तार शुरू कर दिया था तभी कंपनी का एक बड़ा फ्रॉड देश के सामने निकलकर आया।

Read Now : Harshad Mehta Scam News : सुचिता दलाल नहीं बल्कि इन्होने पकड़ा था Scam 1992?
Adarsh Credit Cooperative News : एक समय सहारा इंडिया और LIC को टक्कर देती थी यह कंपनी, आज है यह हालतAdarsh Credit Cooperative के मालिक कौन थे

आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी के मालिक मुकेश मोदी हुआ करते थे आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी की जो पोंज़ी स्कीम संचालित हुआ करती थी उसको राहुल मोदी डायरेक्ट किया करते थे जो कि सोसाइटी के मैनेजिंग डायरेक्टर हुआ करते थे, आपको बता दे कि समिति ने करीबन तीन लाख से ज्यादा निवेशकों के साथ करीबन 2 करोड मेंबर भारत में बना लिए थे वहीं यह रिपोर्ट 2018 की एक रिपोर्ट के मुताबिक बताई गई है इसी के साथ कंपनी का हेडक्वार्टर अहमदाबाद में था वही सोसाइटी के 809 दफ्तर हुआ करते थे।

Society Name Adarsh Credit Cooperative Society Ltd
Society Headquarter Ahemdabad, Gujrat
Total offices 809
Investors including members 1.9 million
Society Approved By Ministry of Agriculture, Goverment of india
Website of society http://adarshcredit.in/

Note : Data Included Is Taken Over The Reports of Wikepedia and Social Forums.



Adarsh Credit Cooperative के बंद होने का कारण

सन 2000 के दशक में जब भारतीय कंपनी अपनी ग्रोथ पर ध्यान दे रही थी उस समय कुछ सोसाइटी और कुछ कंपनी भारत में लगातार पोंज़ी स्कीम के जरिए एक तगड़े फंड को जनरेट कर रही थी जिनमें मुख्य रूप से सहारा इंडिया परिवार और आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी एक बड़े स्तर पर काम कर रहे थे, आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी ने अपनी एजेंट को भी बड़ा लालच दिया था जिससे वह लगातार निवेशकों से सोसाइटी में पैसा जमा कर रहे थे वहीं समिति के जो मेंबर थे वह लगातार उस पैसे का गलत उपयोग कर रहे थे, आपको बता दे कि उस पैसे को वह लोग अपनी पर्सनल प्रॉपर्टीज खरीदने में इस्तेमाल कर रहे थे अतः अपने पर्सनल खर्चों के लिए उन पैसों का इस्तेमाल किया जा रहा था वहीं जब यह बात Ministry of Agriculture के माध्यम से सामने आई तो केंद्रीय रजिस्ट्रार ऑफ़ कोऑपरेटिव सोसाइटी ने इस मामले पर एक बड़ी कार्रवाई की जिसमे सोसाइटी को भी अपने हाथ खड़े करने पड़े।

उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार सोसायटी को सहकारी सोसायटी के केंद्रीय रजिस्ट्रार द्वारा सोसायटी को बंद करने का आदेश दिया गया था, जबकि सोसायटी को मुकदमा चलाने और निवेशकों द्वारा जमा किए गए फंड का दुरुपयोग करने के लिए दोषी पाया गया था, क्योकि सोसायटी एमएससीएस अधिनियम 2002 के तहत काम नहीं कर रही थी, उसके बाद केंद्रीय रजिस्ट्रार ने सोसायटी के मुद्दों को सुलझाने और निवेशकों को पैसा लौटाने के लिए परिसमापक (liquidator) की स्थापना की थी.




Adarsh Credit Cooperative News : घोटाले में इन लोगो की हुई थी गिरफ्तारी

आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी ने समिति अधिनियम का बुरी तरीके से दुरुपयोग किया था वहीं जब इस मामले का घोटाला भारत सरकार के सामने आया तो सरकार के भी कान खड़े हो गए जिसके बाद राजस्थान पुलिस को तुरंत कार्रवाई करते हुए इन सभी लोगों को हिरासत में लेने की आदेश जारी कर दिए गए वही हिरासत में जो लोग राजस्थान पुलिस द्वारा पकड़े गए उनमें कुछ नाम शामिल थे जैसे की वीरेंद्र मोदी (Ex chairmen Accsl), प्रियंका मोदी (Managing Director), समीर मोदी (CFO), रोहित मोदी (Assis. Director), भरत मोदी (director of Aditya Mega Project Pvt Ltd) ललित राजपुरोहित (EX Managing Director) कमलेश चौधरी (Ex Chairmen) ईश्वर सिंह सिंह (Senior Vice President, Accsl) गिरफ्तार किया गया था।

Adarsh Credit Cooperative पर ED की कार्यबाही

जब आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी पर ED ने अपनी कार्रवाई चालू करी तो समिति के कई सारी प्रॉपर्टीज को सीज किया गया जिसमें करीबन 1,489 करोड रुपए के फाइनेंशियल फ्रॉड मामले में कार्रवाई करते हुए लोगों के निवेश को लॉन्ड्रिंग एक्ट 2002 के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा रखा गया इसके बाद समिति के भुगतान के लिए सरकार द्वारा अलग-अलग रिफंड पोर्टल्स लाये गए जिसमें लोगो के रिफंड करने के लिए पोर्टल पर आवेदन करने हेतु कहा गया वही कई लोगो ने इस मामले में उपभोक्ता फोरम सहित हाई कोर्ट में PIL (पब्लिक इंट्रेस्ट लिटिगेशन) भी फाइल करि जिसमे से अभी तक केवल 10 प्रतिशत ही मामले 15 सालो में सुलझ पाए है वही कई लोगो का पैसा आज तक उनको भारत सरकार द्वारा बापस नहीं हो पाया है वही अब सरकार इस मामले में लगातार अनदेखी कर रही है।



अगर आप भी एक पर्ल या फिर आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी या फिर सहारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी के ग्राहक है और आप हमारे साथ आपकी स्टोरी शेयर करना चाहते हैं कि किस प्रकार अपने पैसा जमा किया था और आपका पैसा अगर फस चुका है तो आप हमारे साथ एक स्टोरी शेयर कर सकते हैं हमारी टीम पूरी कोशिश करेगी कि उस स्टोरी को हम लोग हमारी वेबसाइट पर अपलोड करें वही हम तक अपनी बात पहुंचाने के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके या तो हमारे टेलीग्राम पर अपनी खबर को भेज सकते हैं या फिर हमारी ईमेल आईडी पर उसको फॉरवर्ड कर सकते हैं याद रखें कि फॉरवर्ड करते समय अपना मोबाइल नंबर शेयर करना ना भूले.



3 thoughts on “Adarsh Credit Cooperative News : एक समय सहारा इंडिया और LIC को टक्कर देती थी यह कंपनी, आज है यह हालत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *